UP News : डाकघर से भेजेंगी गई बहनों की डेढ़ लाख राखियां

Spread the love
लखनऊ। वैश्विक महामारी के संक्रमण के चलते इस बार बहने भाइयों के घर तक नहीं पहुंच पा रही हैं। इसलिए रक्षाबंधन पर बहनों की भेजी गई राखियों को भाइयों तक पहुंचाने के लिए डाक विभाग ने पूरी तैयारी कर ली है। हांलांकि रक्षाबंधन में नया ट्रेंड भी देखने को मिल रहा है। बहने राखियों के साथ भाइयों को माॅस्क, सैनिटाइजर और गिलोय भी डाक के माध्यम से भेज रहीं है। तो वहीं भाई भी एडवांस में बहनों को गिफ्ट भेज रहे हैं। डाक विभाग के अधिकारियों के मुताबिक शहर के डाकघरों से तकरीबन डेढ़ लाख राखियां बाहर भी जा चुकी है। यह सिलसिला लगातार जारी है।
दरअसल, डाक विभाग के निदेशक कृष्ण कुमार यादव ने बताया कि कोविड-19 संक्रमण और मानसून के बीच राखियों को भाइयों तक सुरक्षित पहुंचाया जा रहा है। इसके लिए डाक विभाग ने विशेष इंतजाम किया है।  छुट्टी होने के बावजूद शहर के पोस्टमैन बहनों की राखियां घर-घर तक पहुंचा रहे हैं। जिसके लिए डाक विभाग ने सभी पोस्टमैन की छुट्टी भी कैंसिल कर दी है। सभी डाकघरों में बहनों के लिए विभाग ने यह कदम उठाया है। संक्रमण के दौर में भी भाइयों की कलाई सूनी नहीं रहेगी। वही वैश्विक महामारी के फैलते संक्रमण को देखते हुए इस बार हर साल की तरह डाक से राखियां भेजने की तादाद बढ़ी है। कोविड-19 की वजह से भाई बहन का त्यौहार पर भी ग्रहण लग गया है।

02 लाख वितरित की गई राखियां

उन्होंने बताया कि डाकघरों में राखी डालने के लिए अलग से बॉक्स बनाया गया है उसके लिए यहां पर स्पेशल बैनर की भी व्यवस्था की गई है। बहनों को इसके बारे में बताया भी जा रहा है। जीपीओ में रोजाना 400 से 450 राखियां भेजी जा रही है। स्पेशल राखी मेल के अलावा स्पीड पोस्ट, साधारण रजिस्ट्री और सामान्य डाक से भी राखियां भेजी जा रही है। लखनऊ के डाकघरों से अब तक डेढ़ लाख राखियां डाक से भेजी जा चुकी है। जबकि दो लाख राखिया डाक के माध्यम से लखनऊ में बांटी जा चुकी हैं।

20 हजार से ज्यादा बिके लिफाफे

डाक विभाग की माने तो अब तक डाकघरों से 20 हजार से ज्यादा वाटरप्रूफ डिजाइनर राखी लिफाफा की बिक्री हो चुकी है। डाक विभाग ने इन लिफाफों पर स्लोगन लिखकर लोगों को कोविड-19 के प्रति जागरूक कर रहा है। बहनों ने विदेशों में भी स्पीड पोस्ट द्वारा राखियां भेजी हैं। जिनमें संयुक्त राज्य अमेरिका, जर्मनी, कनाडा जैसे देशों में रह रहे हैं भाइयों को बहनों ने स्पीड पोस्ट से राखी भेज रही हैं।