उन्नाव में दलित युवतियों की मौत मामले में UP के DGP व चीफ सेक्रेटरी को नोटिस

Spread the love

Unnao ki Beti: उन्नाव में दलित युवतियों की मौत मामले में UP के DGP व चीफ सेक्रेटरी को नोटिस

Unnao ki beti: राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग का चेयरमैन भाजपा के वरिष्ठ नेता तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय साम्पला ने उन्नाव में दो दलित महिलाओं की मौत तथा एक की हालत गंभीर होने पर उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक हितेश चंद्र अवस्थी तथा मुख्य सचिव आरके तिवारी को नोटिस भेजा है

उन्नाव में युवतियों की मौत का मामला

उन्नाव में दलित युवतियों की मौत के मामले का राष्ट्रीय अनूसूचित जाति आयोग ने इस प्रकरण पर उत्तर प्रदेश के डीजी पुलिस तथा मुख्य सचिव को नोटिस भेजा है।

राष्ट्रीय अनुसूचित जाति आयोग का चेयरमैन भाजपा के वरिष्ठ नेता तथा पूर्व केंद्रीय मंत्री विजय साम्पला ने उन्नाव में दो दलित महिलाओं की मौत तथा एक की हालत गंभीर होने पर उत्तर प्रदेश के पुलिस महानिदेशक हितेश चंद्र अवस्थी तथा मुख्य सचिव आरके तिवारी को नोटिस भेजा है। इसके साथ ही इस पूरे मामले की रिपोर्ट तलब की।

इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी उन्नाव की इस घटना का संज्ञान लेकर इसको अत्यंत दुर्भाग्यपूर्ण बताया है।

उन्होंने डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी से इस घटना की विस्तृत रिपोर्ट मांगने के साथ पीडि़ता के नि:शुल्क तथा समुचित इलाज का निर्देश दिया

यह भी पढ़े : कहीं अपराधियों का पनाहगार तो नहीं आटोमोबाइल बाजार ?

गौरतलब है कि उन्नाव के असोहा क्षेत्र में खेत से हरा चारा लेने गईं बुआ-भतीजी की बुधवार को हत्या कर दी गई,जबकि परिवार की ही एक अन्य किशोरी की हालत नाजुक है। तीनों दोपहर में चारा लाने के लिए घर से निकली थीं।इनके देर शाम तक न लौटने पर स्वजन ने तलाश की तो वे अचेत अवस्था में खेत में पड़ी मिलीं।उनके हाथ-पैर बंधे थे और मुंह से झाग निकल रहा था।स्वजन ने आशंका जताई कि दुष्कर्म के बाद जहर खिलाकर हत्या की गई और हत्यारे इनका शव खेत में फेंककर भाग निकले। आइजी ने कहा कि तीनों के कपड़े सुरक्षित हैं।

इस कारण दुष्कर्म की बात कहना जल्दबाजी होगी।

पोस्टमार्टम रिपोर्ट के आधार पर आगे की कार्रवाई होगी।

इसके साथ पुलिस ऑनर किलिंग की दिशा में भी जांच कर रही है। देर रात एडीजी एसएन साबत भी गांव पहुंच गए।

असोहा थानाक्षेत्र के एक गांव निवासी अनुसूचित जाति के दो भाइयों की 13 व 17 वर्षीय बेटियां और भतीजे की 16 वर्षीय बेटी बुधवार दोपहर खेत से चारा लेने की बात कहकर घर से निकली थीं। देर शाम तक उनके घर नहीं लौटने पर स्वजन खोजबीन में जुट गए। रात करीब आठ बजे खेतों की तरफ पहुंचने पर तीनों एक ही दुपट्टे और चादर से बंधी पड़ी मिलीं।

यह भी पढ़े :

तीनों अचेत थीं और उन्हें अस्पताल ले जाया गया तो डॉक्टरों ने बुआ व भतीजी को मृत घोषित कर दिया। तीसरी 17 वर्षीय किशोरी को कानपुर के अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घटना की गंभीरता को देखते हुए गांव में कई थानों की फोर्स तैनात कर दी गई है। एसपी आनंद कुलकर्णी और डीएम रवींद्र कुमार समेत अन्य अधिकारी इस मामले की तह में जा रहे हैं।

उन्नाव जिला अस्पताल में डॉक्टर ने बताया कि गंभीर हालत में मिली किशोरी के मुंह से झाग निकल रहा है। उन्होंने आशंका जताई कि जहरीला पदार्थ खाने के कारण ऐसी स्थिति हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.