आतंकी हमले की साजिश नाकाम ,2 आतंकी गिरफ्तार बसंत पंचमी पे करने वाले थे कई जगह विस्फोट

Spread the love

लखनऊ। बसन्त पंचमी के दिन देश के कई हिस्सों में एक साथ आतंकी हमले की साजिश को नाकाम करते हुए आतंकी संगठन के दो लोगों को एसटीएफ ने लखनऊ से गिरफ्तार किया है।

NEWS24ON
NEWS24ON

सरकार के विरूद्ध युद्ध छेडऩे के उद्देश की फिराक में

एसटीएफ के आईजी अमिताभ यश के मुताबिक काफी दिनों से सूचना मिल रही थी कि पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) के कुछ सदस्य अपराधिक षडय़न्त्र के तहत एक आतंकवदी गिरोह बनाकर निकट भविष्य में देश की एकता एवं अखण्डता तथा समप्रभुता को चुनौती देने एवं देश की सरकार के विरूद्ध युद्ध छेडऩे के उद्देश की फिराक में हैं।

NEWS24ON
NEWS24ON

बना रहे थे हमला करने की योजना

संगठन के सदस्य घातक हथियार व विस्फोटक पदार्थ एकत्रित कर उत्तर प्रदेश के कई महत्वपूर्ण व संवेदनशील स्थानों तथा प्रमुख हिन्दू संगठनों के बड़े पदाधिकारियों पर एक साथ हमला करने की योजना बना रहे हैं। साथ ही यह पता चला कि इस उद्देश्य के लिए भारत के विभिन्न प्रदेशों में अपने सदस्य भी बना रहे हैं।

यह भी पढ़ें:  विकास दुबे स्टाइल में लखनऊ पुलिस कमिश्नरेट का पहला एनकाउंटर

news24on
news24on

इस बावत एसटीएफ की तफ्तीश कर रही थी। वहीं मुखबिर से सूचना मिली थी कि 11 फरवरी को ट्रेन से कुछ संदिग्ध प्रदेश में आने वाले हैं,लेकिन काफी प्रयास के बाद भी उन्हें लोकेट नहीं किया जा सका। तफ्तीश के दौरान मंगलवार को सूचना मिली कि संगठन के दो सदस्य अपने साथियों के साथ लखनऊ में कुकरैल पिकनिक स्पाट के पास मिलने वाले हैं।

NEWS24ON
NEWS24ON

इतना ही नहीं बसन्त पंचमी के आस-पास हिन्दूवादी संगठनों के कार्यक्रमों में कई जगहों पर विस्फोटक से धमाका करने वाले हैं। इस सूचना पर एसटीएफ टीम ने उक्त स्थान पर पहुंचकर घेराबंदी करते हुए दोनों संदिग्धों को गिफ्तार कर लिया गया।

news24on
news24on

गिरफ्तार आरोपियों ने पूछताछ में अपना नाम अन्सद बदरूद्दीन व फिरोज खान निवासीगण जिला कालीकट केरल बताया है। गिरफ्तार आरोपियों के कब्जे से 16 विस्फोटक एक्सप्लोसिव डिवाइस, एक पिस्टल 32 बोर, सात कारतूस, 4800 रुपये नगद व 12 रेलवे टिकट समेत अन्य कागजात बरामद हुए हैं।

यह भी पढ़ें : स्‍पा सेंटर और सैलून की आड़ में चल रहा था सेक्‍स रैकेट, 12 गिरफ्तार

NEWS24ON
NEWS24ON

पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि उनका मुख्य उद्देश्य अपनी विचारधारा को फैलाने के लिए वर्ग विशेष के नवयुवकों का ब्रेनवाश करते हुए हथियारों का प्रशिक्षण देकर देश के किसी भी कोने में घटना को अंजाम देने के लिए तैयार करना था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.