Fraud : विदेश में नौकरी का लालच देकर होटल में बुलाया, बेहोश कर लूटपाट

Spread the love

Fraud : लखनऊ। जम्मू-कश्मीर के युवक को विदेश में नौकरी दिलाने का झांसा देकर लखनऊ बुलाया गया था। हुसैनगंज स्थित होटल में ठहरे पिता-पुत्र को बेहोश कर ठग करीब ढाई लाख रुपये हड़प कर फरार हो गए। पीडि़त ने हुसैनगंज कोतवाली में होटल के मैनेजर व जालसाज समेत तीन लोगों के खिलाफ  मुकदमा दर्ज कराया है।

Fraud :होटल मैनेजर समेत तीन लोगों के खिलाफ केस दर्ज

जम्मू-कश्मीर किश्तवाड निवासी सुदेश परिहार नौकरी तलाश रहे थे। इस दौरान वह अखबार के  विज्ञापन में दिये गये मोबाइल नम्बर पर कॉल किया। उनकी बात स्टीव गोमेज निवासी गोवा से हुई।

स्टीव ने बताया कि जर्मनी स्थित फ र्नेटिक कम्पनी में पर्सनल सेकेट्री की जरूतर है। इसके लिए कम्पनी की तरफ  से ही वीजा दिया जाएगा। सुदेश ने नौकरी करने की इच्छा जताई थी।

इस पर स्टीव ने हवाई टिकट, मेडिकल सर्टिफिकेट और वीजा की औपचारिकता पूरी करने के लिए पांच लाख रुपये का खर्च आने की बात कही थी। सुदेश ने इतने रुपयों की न होने की असमर्थता जतायी तो स्टीव ने खाते में सिर्फ पांच लाख के करीब बैलेंस रखने के लिए कहा। इसके बाद सुदेश को स्टीव ने लखनऊ आकर मुलाकात करने के लिए कहा था।

पिता प्रदीप के साथ सुदेश जालसाज के बताए गये होटल में पहुंचे। यहां पिता-पुत्र को बेहोश कर नकदी, मोबाल व क्रेडिट कार्ड समेत लूट लिए गए। हुसैनगंज इंस्पेक्टर ने बताया कि पीडि़त की तहरीर पर स्टीव गोमेज,होटल का मालिक मैनेजर व वेटर के खिलाफ केस दर्ज कर जांच-पड़ताल की जा रही है।

फिंगर प्रिंट से मोबाइल लॉक खोल खाते में लगाई सेंध

सुदेश के मुताबिक 28 दिसंबर को वह पिता प्रदीप के साथ स्टीव के कहने पर लखनऊ आया था। चारबाग स्टेशन पहुंच कर उसने स्टीव को फोन किया था तो उसने विधानभवन मार्ग स्थित होटल हेरीटेज ब्लू इन का नाम बताया। इसमें दीपक चोपड़ा के नाम से सुदेश के लिए कमरा बुक कराया गया था जहां मिलने के लिए स्टीव आया था।

बातचीत के दौरान स्टीव ने काफी व सैण्डबिच मंगाई थी। सबने एक साथ ही बैठ कर काफी पी थी। इसके बाद ही सुदेश और उसके पिता प्रदीप बेहोश हो गए। होश आने पर स्टीव कहीं नजर नहीं आया। वहीं, सुदेश और उसके पिता के मोबाइल फोन, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड और करीब दस हजार रुपये गायब थे। हालत सुधरने पर पिता-पुत्र ने पुलिस में शिकायत करने की बात कही तो होटल मैनेजर ने पुलिसिया कार्रवाई का भय दिखाकर टरका दिया।

जिसके बाद दोनों शिकायत दर्ज कराए बिना ही लौट गए थे। जम्मू-कश्मीर पहुंच कर सुदेश ने बैंक खाते की पासबुक अपडेट कराई तो उन्हें खाते से दो लाख 40 हजार रुपये निकाले जाने का पता चला। पीडि़त  का आरोप है कि होटल कर्मियों की मिलीभगत से उसे नशीला पदार्थ खिलाकर बेहोश कर फिंगर प्रिंट से मोबाइल लॉक खोल रुपये ट्रान्सफर किये गये हैं।