सपा को भाजपा प्रदेश अध्यक्ष का जवाब- आतंकियों के पैरोकारों के मुंह से शोभा नहीं देते अपराध पर सवाल

Spread the love

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव की हताशा व निराशा का कारण सीएम योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में भाजपा सरकार की जनता में लगातार बढ़ रही लोकप्रियता है। उनको दबंगई गुंडागर्दी के बल पर राजनीति करने की अपनी पुरानी परिपाटी अब बदलनी होगी।

लखनऊ,  उत्तर प्रदेश में पंचायत चुनाव के बाद से भारतीय जनता पार्टी और समाजवादी पार्टी के बीच तीखी जुबानी जंग जारी है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने भाजपा सरकार पर पंचायत चुनाव में धांधली व अपराध के आरोप लगाए तो उस पर करारा पलटवार भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने किया। उन्होंने बयान जारी कर कहा कि पंचायत से लेकर संसद तक अपनी राजनीतिक जमीन गंवा चुके सपा प्रमुख को आत्मावलोकन की जरूरत है।

यूपी बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि आतंकियों की पैरोकारी करने वाले लोगों के मुंह से अपराध व आतंक पर सवाल खड़े करना शोभा नहीं देता है। लोकतंत्र की दुहाई देने वाले लोग जनादेश को स्वीकार करने के बजाय कभी खुलेआम अधिकारियों को सत्ता में आने पर निपट लेने की धमकी देते हैं तो कभी आतंकवादियों के खिलाफ कार्रवाई करने वाली पुलिस पर अविश्वास की बातें करके आतंकियों के हौसले बुलंद करते हैं। उनकी राजनीतिक महत्वाकांक्षा देश व प्रदेश की सुरक्षा के विपरीत धारा में बहती रही है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में भाजपा सरकार ने मजबूत कानून व्यवस्था से भयमुक्त उत्तर प्रदेश की परिकल्पना को साकार रूप दिया। भ्रष्टाचार पर सशक्त प्रहार हुआ। कोविड महामारी पर नियत्रंण, प्रदेश में फैला सड़कों का जाल व सुचारु बिजली आपूर्ति जैसे निर्णयों व योजनाओं ने विश्व के सामने योगी को सशक्त मुख्यमंत्री के रूप में प्रस्तुत किया है।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने कहा कि सपा प्रमुख अखिलेश यादव की हताशा व निराशा का कारण मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व में भाजपा सरकार की जनता में लगातार बढ़ रही लोकप्रियता है। सपा मुखिया को दबंगई, गुंडागर्दी के बल पर राजनीति करने की अपनी पुरानी परिपाटी अब बदलनी होगी।

बता दें कि समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने मंगलवार को बयान जारी कर कहा कि जिन पर कानून व्यवस्था संभालने की जिम्मेदारी है वही कानून का मजाक बना रहे हैं। न्याय देना तो दूर उल्टा अत्याचार कर रहे हैं। सत्ता के संरक्षण में पनप रहे अपराधियों ने पूरे प्रदेश में अपना आतंक मचा रखा है। दलित-वंचित और समाज के कमजोर वर्गों के ऊपर भाजपा राज में ज्यादा अत्याचार बढ़ गए हैं। जिला पंचायत और ब्लाक प्रमुख चुनावों में भाजपा ने सत्ता का जैसा खुला दुरुपयोग किया है वह शर्मनाक है। लोकतंत्र की निर्ममता से हत्या की गई है।