बलात्कारी आसाराम के नाम पर शाहजहांपुर जेल ने लोगो को बाटे कम्बल

आसाराम ने जिस शहर की बेटी से रेप किया शाहजहांपुर जेल ने उसी बलात्कारी की फोटो लगाकर वहीं की जेल में कंबल बांटे बता दे की आसाराम उम्रकैद की सजा काट रहा आसाराम ने 2013 में शाहजहांपुर की ही एक छात्रा से रेप किया था। 2018 में राजस्थान की जोधपुर कोर्ट ने इस मामले में उसे उम्रकैद की सजा सुनाई थी।

उत्तर प्रदेश में शाहजहांपुर जेल प्रशासन विवादों में घिर गया है। दरअसल, यहां रेप के दोषी आसाराम की फोटो लगाकर कैदियों को कंबल बांटे गए। इसी शहर की लड़की के साथ रेप करने का आसाराम पर आरोप है। पीड़ित के पिता ने इस घटना पर कड़ी आपत्ति जताई है और जांच की मांग की है

गवाह की हत्या के आरोपियों ने कंबल बांटे

जेल प्रशासन ने प्रेस नोट जारी करके इसे सरकारी कार्यक्रम बना दिया। इसमें बताया गया कि लखनऊ स्थित आसाराम बापू आश्रम की तरफ से कंबल भेजे गए हैं। अर्जुन और नारायण पांडेय की ओर से कंबल बांटे गए। हैरानी की बात है कि अर्जुन और पुष्पेंद्र आसाराम केस में गवाह की हत्या के आरोपी हैं। वे इसी जेल में बंद रहे हैं और फिलहाल जमानत पर हैं। सोमवार देर शाम प्रेस नोट और फोटो वायरल होने के बाद मामले ने तूल पकड़ा तो सोशल मीडिया से फोटो डिलीट कर दी गई।

जेल प्रशासन का अजीब तर्क

शाहजहांपुर जेल अधीक्षक राकेश कुमार ने मामले पर सफाई दी है। उन्होंने कहा कि रेप केस के गवाह की हत्या के आरोपी जमानत पर बाहर हैं। उन्होंने बंदियों को कंबल बांटने की इच्छा जताई थी, इसलिए इजाजत दे दी गई। वहां किताबें नहीं बांटी गई थीं। SP भले ही सफाई दे रहे हैं, लेकिन वहां क्या-क्या बांटा गया, इसका जेल से ही जारी प्रेस नोट में जिक्र है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.