प्रदूषण का स्‍तर कम करेंगी भगवाधारी बसें, होली के बाद लखनऊ में ट्रॉयल होगा शुरू

हरियाणा स्थित कंपनी की धारूहेड़ा कार्यशाला में भगवा रंग की ई-बसें बनकर तैयार हो गई हैं। कागजी कार्रवाई को अंतिम रूप दिया जा रहा है। सबकुछ ठीक ठाक रहा तो होली के बाद इन बसों का ट्रायल शुरू हो जाएगा।

लखनऊ, न्यूज़ 24on ट्रायल के लिए इसी माह के अंत तक चार प्रोटोटाइप इलेक्ट्रिक नगर बसें आ जाएंगी। हरियाणा स्थित कंपनी की धारूहेड़ा कार्यशाला में भगवा रंग की ई-बसें बनकर तैयार हो गई हैं। कागजी कार्रवाई को अंतिम रूप दिया जा रहा है। सबकुछ ठीक ठाक रहा तो होली के बाद इन बसों का ट्रायल शुरू हो जाएगा। इन बसों को परखने के बाद अन्य बसों का आना शुरू हो जाएगा। इन बसों के चलने के बाद से प्रदूषण में भी काफी हद तक कमी आएगी।

100 इलेक्ट्रिक सिटी बसें

मौजूदा दौर में 39 ई-सिटी बसों का संचालन : सीएनजी बसों के अलावा 40 में से 39 ई-बसें रूट पर हैं। बढ़ती गर्मी को देखते हुए लोग अब इनका भरपूर उपयोग कर रहे हैं।100 नई एसी बसों के आने से इलेक्ट्रॉनिक बेड़ा बढ़कर ई-बसों की संख्या 140 हो जाएगी। 100 ई-बसें आ जाएंगी जून तक : जून माह के अंत तक नई एसी बसें नगरवासियों की राह आसान करने लगेंगी। राजधानी लखनऊ में करीब 100 इलेक्ट्रिक सिटी बसें आनी हैं।

चार्जिंग की वैकल्पिक व्यवस्था

आलमबाग बस टर्मिनल में शुरू हुई चार्जिंग : प्रबंध निदेशक पल्लव बाेस के मुताबिक अब आलमबाग बस स्टेशन पर भी इलेक्ट्रिक बसों की चार्जिंग की वैकल्पिक व्यवस्था हो गई है।नाइट हाल्ट वाली सकुर्लर सेवाओं की चार्जिंग इसी टर्मिनल से की जा रही है।नगर बस का बेड़ा हो चुका है खटारा : 260 सिटी बसों के बेड़े में मात्र 90 सीएनजी बसें ऑनरूट हैं। बाकी बेड़ा जर्जर हालत में कार्यशाला में ही खड़ी रहती हैं।

14 शहरों में सौ इलेक्ट्रिक बसें भी जल्द : आगामी तीन माह में 14 शहरों के लिए सात सौ नई इलेक्ट्रिक नगर बसें आनी हैं। लखनऊ-100, कानपुर-100, आगरा-100, गाजियाबाद-50, प्रयागराज-50, मेरठ-50, मथुरा-50 अलीगढ़-25, बरेली-25, झांसी-25, शाहजहांपुर-25, गोरखपुर-25।

‘कोरोना काल के बाद नगरीय परिवहन के कार्य ने रफ्तार पकड़ी है। डिपो निर्माण कार्य तेजी से शुरू हो गए हैं। नमूने के तौर पर चार बसें ट्रायल के लिए इसी माह के अंत आ जाएंगी

Leave a Reply

Your email address will not be published.