सड़क के किनारे पड़ी विद्युत लाइन बन रही सड़क निर्माण में बाधा

33 हजार की विद्युत लाइन पर एनएचआई व विद्युत विभाग एक दूसरे पर मढ रहे आरोप

लखनऊ। विद्युत विभाग की लापरवाही कहे या एनएचआई की। गलती किसी की भी हो भुगतना राहगीरों और ग्रामीणों को पड़ रहा है। रास्ते मे पड़ी विद्युत लाइन के कारण कहारन पुरवा गांव के जाने वाले मार्ग का निर्माण नहीं हो पा रहा है। 33 हजार की लाइन सड़क के निर्माण में बाधा बनी हुई है।

अधिकारी नहीं कर रहे हैं सुनवाई

ग्रामीण अखिलेश कुमार बताते है कि एनएचआई ने परिमिशन मिलने के बाद नाले की छत को नीचा करके गांव के जाने वाले मार्ग का निर्माण होना है लेकिन सड़क के किनारे 33 हजार की लाइन निर्माण में बाधा बन रही है। वह नाले के किनारे मुश्किल से छह इंच नीचे पड़ी है । जिसे कम से कम एक फिट नीचे करना है लेकिन विद्युत विभाग के अधिकारी कोई सुनवाई नहीं कर रहे है।

अनदेखी कर रहा विभाग

जिसके कारण सड़क का निर्माण अधर में लटक हुआ है। विभागीय लापरवाही के चलते कई जगह रोड के किनारे खुले में 33 हजार की लाइन पड़ी है। जिसके ऊपर से गाड़ियों का आना जाना होने के कारण केबल की रबड़ भी कट चुकी है। उसके बावजूद विद्युत विभाग अनदेखी कर रहा है।

इस मामले में गांव के निवासी अखिलेश कुमार का कहना है कि यहां पर लाइन नीचे हो तो ही निर्माण संभव हो पाएगा।

विभाग कर रहा टालने का काम

इसके लिए बिजली विभाग के अधिकरियो को सड़क के ऊपरी हिस्से में पड़ी 33 हजार की विद्युत लाइन नीचे करना पड़ेगा तभी सड़क निर्माण का कार्य हो पायेगा। इसी मामले पर जब गोसाईगंज पावर हाऊस के उप खंड अधिकारी भारत सिंह से बात की गई कहा कि क्यों बार अधिकारियों को तार नीचे करने के लिए लिखित प्रार्थना पत्र दिया गया लेकिन विभाग इस कार्य को दो माह से टालने के काम कर रहा है।

इस रोड के निर्माण से कई गांव के लोगो का आवागमन सुगम हो जाएगा।नाला बनाने के दौरान एनएचआई द्वारा केबल खोदा गया। तीन साल तक जो भी फाल्ट या समस्या आएगी उसे एनएचआई को ठीक करना है। केबल नीचे करने का काम भी एनएचआई करेगा। एनएचआई ने लेसा के मानक के अनुसार काम नहीं किया।

अधिकारी गण जरा इस पर भी ध्यान दे

एक हफ्ते से टूट पड़ा खंभा नहीं बदल रहा विद्युत विभाग ,उपभोगता परेशान

विद्युत उपकेंद्र गोसाईगंज से जुड़े मोहम्मदपुर गढ़ी गांव में पिछले एक हफ्ते से बिजली का खंभा टूटा पड़ा है। खंभा टूटने के बाद विजली कर्मियों ने खंभे की विद्युत सप्लाई हटा दिया लेकिन उस जगह दूसरा खंभा नहीं लगाया। जिससे गांव के सराफत अली, इनायत अली, मोहम्मद याकूब, प्रकाश मथुरा लाल सहित दस लोगो की विधुत सप्लाई बाधित है।

विद्युत उपभोगताओ की माने तो खंभा टूटने की सूचना पर विजली कर्मियों ने खंभे की सप्लाई काट कर चले गए। उसके बाद न खंभा लगाया न दूसरे खंभे से कनेक्शन जोड़ा। आज भी उपभोगता कनेक्शन होने के बाद चिराग की रोशनी में रहने को मजबूर है।

इस संबंध में जब अवर अभियंता गोसाईंगंज मनोज कुमार से बात की गई तो उन्होंने बताया कि दूसरा खंभा दो सौ फीट की दूरी पर है। लेकिन उस खंभे से उपभोगताओं का कनेक्शन जोड़ने के सवाल पर चुप्पी साध गए।

न्यूज़24On से रविंद्र सिंह (गोसाईगंज) लखनऊ

Leave a Reply

Your email address will not be published.