सड़क सुरक्षा अभियान 17 जनवरी से 18 फरवरी तक

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा माह के अन्तर्गत इस माह 18 जनवरी से 17 फरवरी तक प्रदेश व्यापी सड़क सुरक्षा अभियान चलाये जाने के निर्देश दिये है। उन्होंने सड़क दुर्घटनाओं से बचाव हेतु आम-जन को यातायात नियमों के प्रति जागरूक करने के लिए विस्तृत रूपरेखा तैयार कर कार्यवाही किये जाने के भी निर्देश दिये हैं। उन्होंने यूपी 112 को भी इस अभियान से जोड़ने के लिए कहा है।

अपर मुख्य सचिव, गृह अवनीश कुमार अवस्थी एवं प्रमुख सचिव, परिवहन, राजेश कुमार ने आज लोक भवन स्थित कमाण्ड सेण्टर में एक संयुक्त उच्चस्तरीय बैठक में आगामी सड़क सुरक्षा के संबंध में जागरूकता बढ़ाने के प्रयासों पर विस्तृत चर्चा की।

अभियान को सफल बनाने के लिए एनसीसी, एनएसएस तथा एनजीओ आदि का भी सहयोग प्राप्त किया जायेगा। बैठक में गृह विभाग एवं पुलिस विभाग के अधिकारियों के अलावा चिकित्सा, शिक्षा, पंचायती राज विभाग तथा सड़क निर्माण से जुड़ी सभी निर्माण एजेंसी के वरिष्ठ अधिकारीगण मौजूद थे।

अभियान के दौरान सड़क सुरक्षा से संबंधित विभिन्न पहलुओं की विस्तृत जानकारी हेतु उसके व्यापक प्रचार-प्रसार के निर्देश दिये गये, ताकि आम लोगों को इस संबंध में अधिकाधिक जागरूक किया जा सके।

सड़क दुघर्टनाओं में कमी लाने हेतु यथावश्यक स्थलों पर रोड इंजीनियरिंग का प्रयोग कर चौराहों का निर्माण कराने तथा अवैध कट बन्द कराने के निर्देश दिये गये हैं।

दुघर्टनाओं से बचाव हेतु सड़को के किनारे अवैध रूप से निर्मित ढाबों को हटाने के लिए कहा गया है। इस कार्य के लिए सम्बन्धित विभाग को आवश्यकतानुसार पुलिस बल उपलब्ध कराने के निर्देश दिये गये हैं।

यातायात नियंत्रण के जरूरी प्रयास

अपर मुख्य सचिव, गृह ने दुघर्टना बाहुल्य स्थलों के ब्लैंक स्पॉट को चिन्हित कर सड़क सुरक्षा के जरूरी प्रबन्ध भी सुनिश्चित किये जाने के लिए कहा है। सड़क दुघर्टनाओं में कमी लाने हेतु क्षतिग्रस्त पुल-पुलिया को प्राथमिकता के आधार पर ठीक कराये जाने, रोड मार्किंग, यातायात नियंत्रण के जरूरी प्रयास

तथा साइन बोर्ड का समुचित प्रदर्शन किये जाने के निर्देश दिये गये हैं। टोल प्लाजाओं पर सड़क सुरक्षा संबंधी कार्यक्रम एवं हेल्थ कैम्प की व्यवस्था कराये जाने के निर्देश दिये है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.