सांसद की बहू ने नस काट कर की आत्महत्या की कोशिश

Spread the love

दुबग्गा स्थित सांसद घर के बाहर की घटना

लखनऊ। मोहनलालगंज के सांसद कौशल किशोर और विधायक जय देवी के बेटे आयुष किशोर की पत्नी अंकिता ने रविवार देर रात अपनी हाथ की नस काट ली। अंकिता पहले सांसद कौशल किशोर के दुबग्गा स्थित घर पहुंची और हाथ की नस काट ली। आनन-फानन में उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना के चंद घंटे पहले ही अंकिता का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ था। वीडियो में सासंद की बहू अंकिता ने रोते हुए नजर आई। अंकिता सांसद के पुत्र आयुष पर गंभीर आरोप लगाकर जान देने की बात कह रही थी।

वीडियो में अंकिता ने कहा कि आयुष ने उसके साथ धोखा किया है। अंकिता ने कहा कि मेरी कहीं सुनवाई नहीं हो रही है। आयुष और उनके पिता से बात करने की कोशिश की, लेकिन किसी ने नहीं सुना। मैंने आयुष को मैसेज किया उसने मुझे ब्लॉक कर दिया। मैं घर के बाहर काफी देर कर खड़ी रही, कई लोग आये और गये लेकिन किसी ने भी मुझसे बात नहीं की। निराश होकर मैंने अपना हाथ काट लिया।

बाक्स::: नहीं हो रही कोई सुनवाई
अंकिता ने कहा कि आयुष इतने दिन से लापता है। मुझसे बात नहीं की। मैं किराये के मकान में रह रही हूं, मुझे दिक्कत हो रही है। आयुष ने मुझे धमकी दी कि मेरे घरवाले उसे मार देंगे। मेरे फोन में ये रिकार्डिंग सेव है। वे सत्ताधारी दल के नेता हैं, मेरी सुनवाई नहीं हो रही है। मुख्यमंत्री से भी अपील की थी, लेकिन मेरी कही सुनवाई नहीं हो रही है।

आयुष के  परिजनों पर लगाए संगीन आरोप

वायरल वीडियो में अंकिता ने पुलिस और आयुष के घरवालों पर संगीन आरोप लगाए हैं। वीडियो में अंकिता ने कहा कि वह कब से इंतजार कर रही थी कि आयुष उनके पास आएगा। रविवार को आयुष महिला थाने पहुंचा था। आयुष से मिलने के लिए मैं थाने भी गई थी, लेकिन पुलिस वालों ने यह कहकर मना कर दिया कि वह नहीं आया है। हर कोई मिला हुआ है।

आयुष थाने में ही था, लेकिन नहीं मिला। अंकिता ने कहा कि आयुष तुम खुद ही कहते थे कि घरवाले मुझे प्यार नहीं करते। मैं हर कदम पर तुम्हारे साथ रही, लेकिन तुमने मेरा सब कुछ छीन लिया। तुम्हारा तो कुछ नहीं गया। तुम अपने घरवालों के पास चले गए। मेरे बारे में नहीं सोचा। अब मैं जा रही हूं… बहुत दूर। तुम याद रखोगे। मुझसे गलती हो गई, जो तुम्हारे साथ थी।

क्या है पूरा मामला

बीती 3 मार्च को आरोपित आयुष के ऊपर फायरिंग हुई थी। अपने बयान में सांसद पुत्र ने विरोधियों पर फायरिंग का आरोप लगाया था। मामला हाईप्रोफाइल होने के कारण पुलिस ने तेजी से छानबीन शुरू की तो सामने आया कि सांसद पुत्र के कहने पर उसके साले आदर्श ने ही फायरिंग की थी। आदर्श ने पुलिस की पूछताछ में यह बात कबूल करते हुए बताया था कि आयुष ने अपने विरोधियों को फंसाने के लिए खुद पर फायरिंग कराने की साजिश रची।

जिसके बाद आयुष के साले को गिरफ्तार कर लिया गया था और असलहा भी बरामद कर लिया था। आयुष गिरफ्तारी के डर से इलाज के दौरान ट्रामा सेंटर से फरार हो गया था। आयुष ने परिजनों के बिना रजामंदी के शादी की थी। इसके कई दिन बाद आयुष ने वीडियो सोशल मीडिया पर डालते हुए खुद को निर्दोष व सरेंडर करने की बात कही थी।

इसके बाद पूरा परिवार आयुष के बचाव में खड़ा हो गया। इसी दौरान हाइकोर्ट में अर्जी डाल गिरफ्तार का स्टे आर्डर ले लिया। रविवार को आयुष मडिय़ांव थाने पहुंचकर बयान दर्ज कराया था। आयुष पर मडिय़ांव थाने में खुद पर हमला कराने व साजिश रचने की एर्फआइआर दर्ज है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.