Lucknow: चाइनीज मांझा की चपेट में आने से दो युवक घायल

Spread the love

चाइनीज मांझे के खिलाफ चल रहे अभियान का नहीं दिख रहा असर

लखनऊ। पतंगबाजी के लिए मशहूर पुराने लखनऊ में धार-धार चाइनीज मांझा की जद में आकर लोगों के घायल होने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। हालांकि चाइनीज मांझा के खिलाफ  कमिश्नरेट पुलिस लगातार अभियान चला रही है बावजूद इसके पतंगबाज अपने पतंगबाजी के शौक के चक्कर में लोगों की जान से खेलने से बाज नहीं आ रहे हैं।

चाइनीज मांझे की जद में घायल

बुधवार को चाइनीस मंझे की जद में आकर दो लोग घायल हो गये। इनमें पहला मामला हुसैनगंज से डीएवी कॉलेज तक बनाए गए ओवर ब्रिज का है जहां नेहरू नगर नाका के रहने वाले 32 वर्षीय आशीष खुराना बाइक से पुल चढ़ते ही चाइनीज मांझे की जद में घायल हो गये। हालांकि चाइनीज मांझे की जद में आए आशीष खुराना को ज्यादा चोटें नहीं लगी लेकिन चाइनीज मांझे की जद में आकर उनकी मोटरसाइकिल लडख़ड़ा गई जिससे वह सड़क पर गिरकर मामूली रूप से घायल हो गए।

मांझे के खिलाफ लगातार अभियान जारी

वहीं दूसरा मामला बाजार खाला थाना क्षेत्र में नवनिर्मित पुल पर सामने आया जहां नेहरू नगर नाका के ही रहने वाले ही 32 वर्षीय मोहित अग्रवाल हैदरगंज से मिल एरिया चौकी तक जाने वाले पुल पर चाइनीज मांझे की जद में आकर मामूली रूप से घायल हो गए। हालांकि दोनों मामलों में पुलिस ने जानकारी न होने की बात कही है। डीसीपी पश्चिम देवेश पाण्डेय ने बताया कि चाइनीज मांझे के खिलाफ  पुलिस का अभियान लगातार जारी है। उन्होंने बताया कि पश्चिम क्षेत्र के सभी थाना क्षेत्रों में बिकने वाले मांझे के खिलाफ लगातार अभियान जारी है।

उन्होंने बताया कि फिलहाल दुकानों पर मांझा नहीं बेचा जा रहा है। गौरतलब हो कि चाइनीस मांझे से लोगों के घायल होने का यह पहला मामला नहीं है। इससे पहले भी हैदरगंज से मिल एरिया चौकी तक बनाए गए पुल पर एक युवक की गर्दन चाइनीज मांझे की चपेट में आने से कट गई थी। वहीं आलमनगर पुल पर भी एक युवक का गाल चाइनीज मांझे से बुरी तरह से कट गया था। इसके अलावा कई अन्य लोग चाइनीज मांझे की चपेट में आने से घायल हो चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.