LUCKNOW: सूबेदार के बयान पर टिकी हत्याकांड की गुत्थी

Spread the love

-12 दिन बाद भी घायल सूबेदार का नहीं दर्ज हो पाया बयान
-कैंट थाना क्षेत्र के सूबेदार हत्याकाण्ड का मामला

लखनऊ। कैंट थाना क्षेत्र स्थित सेंटर कमांड आफिसर्स मेस में हुई सूबेदार की हत्या मामले में 12 दिन  बाद भी हत्यारा पुलिस गिरफ्त से दूर है। फिलहाल पुलिस की तफ्तीश घायल सूबेदार के बयान पर आकर रूक गई है। पुलिस ने बताया कि घटनास्थल से करीब 200 मीटर की दूरी पर संदिग्ध हालत में घायल मिले साथी सूबेदार रमेश राय की हालत में सुधार है लेकिन डॉक्टरों ने अभी बयान लेने से मना किया है।

कैंट इंस्पेक्टर के मुताबिक हत्याकांड मामले में घायल सूबेदार का बयान अभी नहीं दर्ज हो पाया है। सिर में चोट लगने से चिकित्सकों ने बयान देने की स्थिति में न होने की बात कही है। वहीं जिस जगह वारदात को अंजाम दिया गया है। वह स्थान कैमरे की पहुंच से दूर है। फिलहाल हत्याकांड में किसी सैन्यकर्मी का हाथ होना बताया जा रहा है। अन्य बिन्दुओं पर तफ्तीश की जा रही है। मामले में पुलिस कुछ भी बोलने से बच रही है। गौरतबल हो कि कमांड आफिसर्स मेस के इंचार्ज के पद तैनात दार्जिलिंग निवासी 11 जीआरआरसी के नायब सूबेदार पेम्बा शेरपा (44) बीती 26 फरवरी को अपने कमरे में मृत अवस्था में मिले थे। जबकि साथी सूबेदार रमेश कुमार राई को रहस्यमय हालात में लहूलुहान अवस्था में छावनी के कमांड अस्पताल पहुंचा था। सूत्रों की मानें तो सूबेदार पेम्बा शेरपा के पास आफिसर्स मेस के इंचार्ज के पद का चार्ज था जो कि रमेश कुमार को सौंपना था। इसी बात को लेकर दोनों में कई दिनों से विवाद भी चल रहा था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.