Mukhtar Ansari मुख्तार अंसारी के बेटे ने नियमों को तोड़कर खरीदे असलहे, एसटीएफ ने चार्जशीट की दाखिल

Mukhtar Ansari’s son broke the rules and bought, STF filed charge sheet

लखनऊ। कुख्यात माफिया मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास के खिलाफ एसटीएफ ने न्यायालय में चार्जशीट दाखिल कर दी है। एसटीएफ के आईजी अमिताभ यश के मुताबिक अब्बास अंसारी निवासी पेपर मिल कालोनी महानगर के खिलाफ लखनऊ के महानगर थाने में आम्र्स एक्ट का मामला दर्ज किया था। गत वर्ष 3 जनवरी को एसटीएफ को मामले की जांच सौंपी गई थी। इंस्पेक्टर पंकज मिश्रा की विवेचना में आयुध नियमों का उल्लंघन पाया गया। अब्बास अंसारी अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज के हैसियत से अनुमन्य सात शस्त्रों की सीमा से अधिक आठ असलहा हासिल किया था।

Mukhtar Ansari मुख्तार अंसारी के अरमानों पर सुप्रीम कोर्ट ने फेरा पानी उत्तर प्रदेश के बांदा जेल में भेजने का आदेश

कारतूसों का जखीरा मिला

अब्बास ने देश-विदेश में कई शूटिंग प्रतियोगिताओं में हिस्सा लिया है। इन्हीं शूटिंग के बहाने उसने नियम विरुद्ध कई असलहे व कारतूस खरीदे। अब्बास के खिलाफ अन्य प्रतिबंधित बोर के असहले व कारतूस बरामद होने का भी आरोप है।गौरतलब है कि बाहुबली विधायक मुख्तार अंसारी के बेटे अब्बास अंसारी के बसंतकुंज नई दिल्ली स्थित आवास से लखनऊ पुलिस ने छह असलहे बरामद किए थे। यही नहीं आरोपित के यहां से बड़ी मात्रा में कारतूस भी मिले थे। तत्कालीन एसएसपी कलानिधि नैथानी के निर्देश पर महानगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज हुआ था। विवेचना में अब्बास के पास देश-विदेश से खरीदी गये 17 असलहों व कारतूसों का जखीरा मिला था। आरोपित के खिलाफ महानगर पुलिस ने दर्ज एफआईआर में धाराओं की बढ़ोतरी भी की है।

आरोप पत्र के मुख्य बिन्दु
-निशानेबाज की हैसियत से सात शस्त्र की जगह नियम विरुद्ध आठ शस्त्र खरीदे
-शस्त्र लाइसेंस का पता बदलवा लिया और जिला प्रशासन को सूचना तक नहीं दी
-अधिकृत बोर से ज्यादा बोर के असलहे व कारतूस खरीदे
-इंटरनेशनल शूटिंग स्पोर्ट्स फेडरेशन द्वारा प्रतिबन्धित कारतूस खरीदे
-गलत तरीके से शस्त्र में तकनीकी खराबी दिखाकर उसे बेचने की अनुमति ली
-भारतीय राष्ट्रीय रायफल संघ के प्रमाण पत्र के बिना विदेशों से असलहे खरीदे
-दिल्ली के अस्थायी पते को पिता मुख्तार के नाम पर स्थायी पता दिखाया जबकि वह 15 सालों से जेल में बंद हैं
-शस्त्र लाइसेंस में दिखाये गये कारतूस व बरामद कारतूसों में भिन्नता मिली
-बरामद शस्त्र मानक के अनुरूप नहीं मिले

Leave a Reply

Your email address will not be published.