LUCKNOW : पारा कोतवाली के तत्कालीन इंस्पेक्टर के खिलाफ एफआईआर  

Spread the love

-परिजनों ने सीबीसीआईडी से जांच कराने की लगाई थी गुहार
लखनऊ। राजधानी के तत्कालीन पारा इंस्पेक्टर के खिलाफ मुकदमा दर्ज हुआ है। बताया जा रहा है कि
आरोपितों के खिलाफ  कार्रवाई न होने पर भपटामऊ निवासी मृतक श्याम रावत के परिजनों ने सीबीसीआइडी (क्राइम ब्यूरो क्राइम इन्वेस्टिगेशन डिपार्टमेंट) से मामले की जांच की गुहार लगाई थी। इस बावत सीबीसीआइडी ने तत्कालीन पारा इंस्पेक्टर रणजीत सिंह भदौरिया के खिलाफ  पारा थाना में मामला दर्ज कराया है।
गौरतलब हो कि पारा भपटामऊ निवासी श्याम रावत (19) कैटरिंग में काम करता था। बीते 30 अप्रैल 2019 की देर रात खाना खाने के दस मिनट बाद श्याम घर से चला गया था। देर रात परमेश्वर के घर पर दीवार के सहारे छत पर श्याम चढ़ रहा था। दीवार की ईंट निकलने से श्याम नीचे गिरकर घायल हो गया था। देर रात श्याम के घायल होने की जानकारी उसके दोस्त राहुल ने बड़े भाई प्रेमशंकर को दी थी। बड़े भाई प्रेमशंकर व दोस्त राहुल घायल श्याम को लेकर एरा अस्पताल ले गए थे, जहां चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया था। मृतक श्याम रावत के भाई राज ने आरोप लगाया था कि श्याम को उसके दोस्त विनीत, राहुल व परमेश्वर घर से बुलाकर ले गए थे और प्लानिंग कर उसकी हत्या कर दी। साथ ही बताया कि श्याम के दोनों पैरो व सिर में चोट लगी थी। नाक व कान से खून निकला था। इसके साथ ही दिसंबर 2018 में भी मारपीट हुई थी और जान से मारने का प्रयास भी किया था। इस बावत मृतक श्याम की मां रामकली ने भपटामऊ निवासी विनीत, राहुल व परमेश्वर का हत्या का आरोप लगाकर पारा थाना में मामला दर्ज कराया था। पुलिस ने तीनों युवकों को हिरासत में लेकर पूछताछ करने के बाद छोड़ दिया था। कार्रवाई न होने पर मृतक श्याम के परिजनों ने सीबीसीआइडी से मामले की जांच की गुहार लगाई थी। सीबीसीआइडी मामले की जांच कर रही थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.