Lucknow Block Pramukh Chunav Result 2021: सात सीटों पर भाजपा का कब्जा, सपा को एक भी सीट नहीं

Spread the love

Lucknow Block Pramukh Chunav Result 2021 समाजवादी पार्टी के नेताओं ने प्रशासन पर गड़बड़ी का आरोप लगाया। भाजपा ने बख्शी का तालाब माल मलिहाबाद काकोरी सरोजनीनगर मोहनलालगंज और गोसाईगंज ब्लाक में जीत दर्ज की। गोसाईगंज और सरोजनीनगर में कार्यकर्ताओं में झड़प।

लखनऊ, राजधानी में आठ ब्लाक प्रमुख सीटों के लिए हुए चुनाव में सत्ताधारी भाजपा के प्रत्याशियों ने सात सीटों पर जीत हासिल की। एकमात्र चिनहट ऐसा ब्लाक रहा जहां पर सपा से बगावत कर निर्दलीय प्रत्याशी बनीं ऊषा यादव ने सपा की ही शशि यादव को हराया। यहां पर भाजपा सीन से गायब रही। चुनाव के दौरान गोसाईगंज और सरोजनीनगर में सपा और भाजपा कार्यकर्ताओं के बीच हल्की झड़पें हुई। गोसाईगंज में पथराव के दौरान कार के शीशे तोड़ दिए गए। वहीं सपा ने प्रशासन पर चुनाव के दौरान गड़बड़ी करने का आरोप लगाते हुए कई जगह हंगामा भी क‍िया।

राजधानी के आठ ब्लाक में सुबह ग्यारह बजे भारी सुरक्षा व्यवस्था के बीच मतदान शुरू हुआ। समाजवादी पार्टी के नेताओं ने प्रशासन पर गड़बड़ी का आरोप लगाया। भाजपा ने बख्शी का तालाब, माल, मलिहाबाद, काकोरी, सरोजनीनगर, मोहनलालगंज और गोसाईगंज ब्लाक में जीत दर्ज की। मलिहाबाद में भाजपा प्रत्याशी निर्मल वर्मा ने 76 वोट हासिल किए। वहीं समाजवादी पार्टी की विद्यावती के खाते में केवल सात वोट पड़े। माल ब्लाक में भी यही तस्वीर रही। यहां पर भाजपा प्रत्याशी रामदेवी को 68 वोट मिले जबकि सपा की उमा रावत को 16 वोट मिले। सरोजनीनगर में हंगामे के बीच मतदान हुआ। यहां पर भाजपा के प्रत्याशी सुनील कुमार को 42 वोट मिले जबकि सपा के दिलीप कुमार रावत को 22 मत प्राप्त हुए।

मोहनलालगंज ब्लाक प्रमुख सीट के लिए भाजपा के ओम प्रकाश शुक्ल को 58 वोट मिले जबकि सपा के नवनीत सिंह 25 वोट पाकर दूसरे स्थान पर रहे। काकोरी में नीतू यादव ने 33 वोट पाकर जीत दर्ज की। सपा की कमलेश यादव को 22 वोट मिले। गोसाईगंज में सपा और भाजपा समर्थकों के बीच हल्की झड़प के बीच मतदान हुआ। यहां भाजपा के विनय कुमार को 63 और समाजवादी पार्टी के अनुज सिंह को 31 वोट मिले। बख्शी क तालाब में भी भाजपा का परचम लहराया। यहां भाजपा उम्मीदवार ऊषा सिंह को 87 वोट मिले जबकि सपा की रेनू यादव को महज 13 वोट ही मिले। चिनहट एकमात्र ऐसी सीट रही जहां भाजपा के समीकरण फेल हो गए। यहां पर सपा से बागी होकर निर्दलीय के रूप में मैदान में उतरीं ऊषा यादव ने 10 वोट हासिल कर समाजवादी पार्टी की शशि यादव को हराया। शशि को केवल सात वोट मिले।