किसान आंदोलन में हिस्सा लेने जा रहे सपा प्रमुख Akhilesh Yadav अखिलेश यादव को उनके घर में ही किया नजरबंद

कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने किया बल का प्रयोग

नए किसान कानूनों के खिलाफ आंदोलन कर रहे किसानों के समर्थन में सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने सोमवार को कन्नौज से प्रदेश में किसान पदयात्रा का ऐलान किया था। लेकिन कन्नौज जाने से पहले उन्हेंउन्ही के घर में एक तरह से नजरबंद कर दिया गया लेकिन दोपहर बाद अखिलेश अपने आवास से बाहर निकले।पुलिस ने अखिलेश यादव व तमाम कार्यकर्ताओं को हिरासत में ले लिया है। इस दौरान कार्यकर्ताओं पर पुलिस ने बल भी प्रयोग किया।

हिस्सा लेने जा रहे सपा प्रमुख अखिलेश यादव को झड़प के बाद हिरासत में ले लिया गया था अखिलेश यादव ने कहा किसानों की आवाज नहीं दबेगी किसानों के समर्थन में पदयात्रा न करने दिए जाने से नाराज सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने धरना दिया।
अखिलेश ने कहा कि सरकार किसानों की आवाज नहीं दबा सकती है। आज मुझे कन्नौज जाने से रोका गया है। कार्यक्रम की अनुमति कोरोना का हवाला देकर नहीं दी गई जब भाजपा या सरकार कोई कार्यक्रम करती है तो कोरोना नहीं होता है, लेकिन हम किसानों की आवाज उठाना चाहते हैं तो हमें कोरोना हो जाएगा।

Akhilesh Yadav अखिलेश यादव ने लोकसभा अध्यक्ष को लिखा पत्र

अखिलेश यादव ने लोकसभा अध्यक्ष को एक पत्र लिखा है। जिसमें कहा है कि सरकार के इशारे पर पुलिस प्रशासन के मुझे कन्नौज जाने से रोका है। मेरे वाहनों को भी कब्जे में लिया गया।मेरे घर पर जैसे कर्फ्यू लगा दिया गया मुझे किसी से मिलने नहीं दिया जा रहा है यह राज्य सरकार का अलोकतांत्रिक व्यवहार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.