केवाईसी के नाम पर खाते से निकाले 3 लाख 11 हज़ार 798 रुपए जालसाजो ने

साइबर सेल की सक्रियता से बरामद हुए 1 लाख 81 हज़ार 798 रुपए,

लखनऊ । साइबर सेल की मुस्तैदी से एक व्यापारी के खाते से जालसाज द्बारा निकाले गए 3 लाख 11 हज़ार 798 रुपए में से 1 लाख 81 हज़ार 798 रुपए पुलिस ने बरामद कर लिये । लखनऊ साइबर सेल द्बारा व्यापारी के अकाउंट से निकाले गए पैसे के मैसेज आने के तुरंत बाद सक्रिय होने की वजह से साइबर सेल ने इस मामले का खुलासा किया।


जानकारी के मुताबिक जानकीपुरम के रहने वाले मोहम्मद याहया जाफरी के अकाउंट से पिछले महीने की 30 तारीख को तीन बार में 3,11,798 रूपये उनके बैंक खाते से निकाल लिए गए । खाते से पैसे निकाले जाने का मैसेज देख कर मोहम्मद याहया जाफरी के होश उड़ गए । उन्होंने तत्काल साइबर सेल पहुंच कर इसकी जानकारी दी तो साइबर सेल में तैनात उपनिरीक्षक सुरेश गिरी ने मामले को संज्ञान में लेते हुए कार्यवाही शुरू की और उनकी मेहनत रंग लाई महज़ 9 दिनों के भीतर ही मोहम्मद याहया जाफरी के अकाउंट से फर्जी तरीके से निकाले गए 3,11, 798 में से 1, 81, 798 बरामद करा लिये गये।

साइबर सेल में तैनात उपनिरीक्षक सुरेश गिरी ने बताया

साइबर सेल में तैनात उपनिरीक्षक सुरेश गिरी के मुताबिक यदि किसी के खाते से कोई जालसाज पैसे निकाल ले और पीड़ित तत्काल साइबर सेल में कंप्लेंट दर्ज करा दे तो मुमकिन है कि अकाउंट से निकाला गया पैसा वापस कराया जा सकता है। उन्होंने बताया कि मोहम्मद याहया जाफरी का पैसा फ्लिपकार्ट में ट्रांसफर हुआ था जिसकी वजह से उनका 1,81000 वापस आ गया उन्होंने बताया कि मोहम्मद याहया के अकाउंट से दोपहर करीब 1:30 बजे पैसा निकाला गया और उन्होंने महज डेढ़ घंटे के अंदर ही साइबर सेल में आकर जानकारी दी जिसकी वजह से फ्लिपकार्ट में होल्ड उनका 1, 8000 वापस कराया जा सका । सुरेश गिरी का कहना है कि जालसाज़ों द्बारा अगर प्राइवेट मर्चेंट में पैसा ट्रांसफर किया जाता है तो उसकी वापसी के 99% चांस होते हैं

बशर्ते पीड़ित तुरंत ही शिकायत दर्ज करा दें उन्होंने कहा कि जागरूकता और जानकारी ही बचाओ है उन्होंने बताया कि मोहम्मद याहया द्बारा शिकायत दर्ज कराने के तुरंत बाद ही साइबर सेल की तरफ से फ्लिपकार्ड को ईमेल भेज कर मामले से अवगत कराया गया था जिसकी वजह से मोहम्मद याहया जाफरी का फ्लिपकार्ट में होल्ड 1,81,798 उनके अकाउंट में वापस कराया जा सका।

Leave a Reply

Your email address will not be published.