राजाजीपुरम बिजली बिलिंग सेन्टर पर उपभोक्ताओं से की जाती है अभद्रता

एसडीओ सहित अधिषासी अभियंता नही पहुँचते है समय से ड्यूटी

लखनऊ। राजधानी में जहाँ एक ओर स्मार्ट मीटर फेल होते नजर आ रहे हैं और उत्तर प्रदेश राज्य विद्युत उपभोक्ता परिषद द्वारा इनको उतरवाने की मांग की जा रही है जिससे कि उपभोक्ताओं को किसी भी प्रकार की असुविधा न हो ।

वही दूसरी ओर बिजली विभाग के कर्मचारियों की मनमानी उपभोक्ताओं पर भारी पड़ रही है। साथ ही साथ यदि कोई उपभोक्ता अपनी समस्या को लेकर उच्च अधिकारियों के पास जाए तो उनकी समस्याओं का समाधान करने वाला भी कोई नही है।

न्यूज़24ऑन

मामला विद्युत नगरी वितरण खण्ड राजाजी पुरम सी. ब्लॉक का है जहां पर बिल जमा करने वाले कर्मचारियों की मनमानी के चलते उपभोक्ता देर तक परेशान होता रहा ।

बिलिंग सेन्टर पर बैठे कर्मचारी को जब उपभोक्ता द्वारा पुराने बिजली बिल की खिंची गयी फ़ोटो दिखा कर उसमें दर्ज आई.डी. नम्बर से बिल जमा करने की बात कही गयी तो कर्मचारी द्वारा मोबाइल देखने से साफ इंकार करते हुए बिल की हार्ड कॉपी लाने को कहा गया ।

ऐसा कोई नियम नही

जबकि वही के एक अन्य कर्मचारी ने बताया कि ऐसा कोई नियम नही है कि हार्ड कॉपी उपभोक्ता से लेकर उससे साइन करा कर उसको विभाग द्वारा अपने यहां रिकॉर्ड के लिए रखा जाता हो बल्कि सिर्फ पुराने बिल को इसलिए मँगाया जाता है कि उसमें दर्ज उपभोक्ता की सही सही आई.डी. की जानकारी मिल सके।

news24on
न्यूज़24ऑन

उपभोक्ता की पुराने बिजली बिल के फोटो में उसकी आई.डी. साफ साफ अंकित थी किन्तु बिलिंग कर्मचारियों ने उसकी एक न सुनी। जिसके बाद बाद उपभोक्ता द्वारा पुराने बिल की फ़ोटो में आई.डी. अंकित होने की बात कहने पर बिलिंग सेंटर पर बैठे कर्मचारियों ने उपभोक्ता से अभद्रता करते हुए बिल न जमा करने की बात कही गयी और कहा जाओ जिस अधिकारी से शिकायत करना है करो।

समय पर नहीं आते अधिकारी

जिसके बाद उपभोक्ता एसडीओ डी.बी. सिसोदिया के केबिन में गया किन्तु 11:30 बजे भी एसडीओ डी.बी. सिसोदिया अपनी ड्यूटी पर नही पहुँचे थे। जब इसकी जानकारी अधिषासी अभियंता ए.के. सिंह से करनी चाही गयी तो पता चला कि अधिषासी अभियंता ए.के. सिंह ख़ुद ही 11:30 बज जाने के बाद भी अपनी ड्यूटी पर नही पहुँचे थे।

news24on
न्यूज़24ऑन

ऐसे में अब सवाल यह उठता है कि जब कर्मचारियों की मनमानी व अभद्रतापूर्ण व्यवहार की शिकायत सुनने वाले और कर्मचारियों को ड्यूटी नियमो की जानकारी देने वाले उच्च अधिकारी ही समय से ड्यूटी नही पहुँचेगे तो उपभोक्ताओं की समस्याओं को कौन सुनेगा।

और कब तक उपभोक्ताओं से कर्मचारियों द्वारा ऐसे ही बदसलूकी की जाती रहेगी।

न्यूज़24on से हसन राना की खास रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.