BARABANKI : बाराबंकी में भाकियू ने हाईवे जाम कर किया प्रदर्शन, कई नेता हुए गिरफ्तार

Spread the love

बाराबंकी। किसान बिल को रद्द करने की मांग को लेकर अड़े किसान संगठनों के आह्वान पर बाराबंकी में टोल प्लाजा पर सुबह से ही सुरक्षा व्यवस्था पुख्ता कर दी गई थी। आंदोलन को लेकर कई किसान नेताओं को उनके घरों पर हाउस अरेस्ट कर दिया गया था। इसके बावजूद भाकियू भानु गुट के एक दर्जन से अधिक कार्यकर्ताओं ने कुछ मिनट के लिए लखनऊ-अयोध्या हाईवे को जाम कर प्रदर्शन किया।

डीएम डा. आदर्श सिंह व एसपी डा. अरविन्द चतुर्वेदी किसान आंदोलन को लेकर सतर्कता व तैनात सुरक्षाकर्मियों की जांच करने के लिए स्वयं अयोध्या हाईवे पर स्थित अहमदपुर टोल प्लाजा व बहराइच हाईवे स्थित टोल प्लाजा पहुंचे। सुबह से ही टोल प्लाजा पर भारी संख्या में पुलिस बल तैनात की गई थी। निरीक्षण के दौरान डीएम व एसपी ने टोलकर्मियों से कहा कि वह अपना काम करें, शांति भंग करने वालों से सख्ती से निपटा जाएगा।

कई नेता हाउस अरेस्ट, मगर फिर भी हुआ प्रदर्शन

सतर्क जिला प्रशासन ने किसान संगठनों के आंदोलन को लेकर सुबह ही भारतीय किसान संगठन के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष चौधरी ज्वाला सिंह व जिलाध्यक्ष संतोष तिवारी को उनके टिकैतनगर स्थित दुल्हदेपुर गांव में ही हाउस अरेस्ट कर दिया। दोनों किसान नेताओं के घरों पर पुलिस तैनात कर दी गई थी। इसी प्रकार भारतीय किसान यूनियन टिकैत के जिला संरक्षक उत्तम वर्मा के घर पर भी पुलिस बल तैनात कर उन्हें कहीं निकलने नहीं दिया।

उधर पुलिस की नजरों को बचाते हुए भाकियू भानु गुट के आंशू चौधरी समेत एक दर्जन से अधिक नेताओं ने शनिवार को लखनऊ-अयोध्या नेशनल हाईवे पर अहमद टोल प्लाजा से पहले पल्हरी के समीप सड़क पर जाम लगाकर प्रदर्शन शुरू किया। सूचना पर पहुंची पुलिस ने भाकियू कार्यकर्ताओं को हाईवे से हटाकर यातायात बहाल किया। इसके बाद कार्यकर्ता हाईवे के किनारे ही बैठ गए और प्रदर्शन करते हुए किसानों के लिए बनाए गए बिल को वापस लेने की मांग करते रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.