एलडीए टीम पर हमला ,जेसीबी चालक की मौत

Spread the love

.
-मडिय़ांव थाना क्षेत्र का मामला

लखनऊ। प्रबंध नगर योजना में अवैध कब्जा तोडऩे पहुंची एलडीए की टीम पर गुरुवार को भूमाफिया ने हमला करवा दिया। किसानों को आगे कर टीम पर पथराव करते हुए उनके बीच मारपीट शुरू कर दी गई। इस दौरान जेसीबी का चालक भीड़ के हत्थे चढ़ गया, जिसे आरोपियों ने जमकर पीट दिया।

प्राधिकरण अफसरों के मुताबिक इसी दौरान उसे हार्ट अटैक आ गया। इलाज के लिए मेडिकल कॉलेज ले जाने पर डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।
एलडीए की प्रबंध नगर योजना में कैरियर मेडिकल कॉलेज के पीछे प्राधिकरण की अधिग्रहित जमीन पर प्रॉपर्टी डीलरों ने कब्जा कर प्लॉटिंग कर दी है। कुछ डीलरों ने अवैध कॉलोनी तक बसा दी है।

एलडीए प्रवर्तन दस्ते के ओएसडी अरुण सिंह की अगुवाई में गुरुवार टीम अवैध कब्जे को हटाने पहुंची थी। तभी बड़ी संख्या में भूमाफिया, प्रॉपर्टी डीलर पहुंच गए। उन्होंने स्थानीय किसानों को आगे कर हंगामा शुरू कर दिया।

शोर शराबे पर वहां भीड़ और जुट गई, जिसके बाद लोगों ने पथराव कर दिया। अचानक हुए हमले से हैरान एलडीए के इंजीनियर और अफसर किसी तरह जान बचाकर भागे। मगर जेसीबी नहीं निकल पाई।

आरोपियों ने जेसीबी ड्राइवर ताहिर अली को बाहर खींचकर पिटाई कर दी। बताया जाता है कि इसी बीच खौफजदा ताहिर को हार्ट अटैक पड़ गया। पुलिस उसे आनन-फानन में लेकर अस्पताल पहुंचे, लेकिन तब तक उसकी मौत हो चुकी थी।

इंस्पेक्टर मडिय़ांव ने बताया कि शाम को घर जाते समय तारिक की अचानक तबीयत बिगड़ी। उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया जहां उनकी मौत हो गई। वहीं काम में बांधा डालने के संबंध में एलडीए की ओर से तहरीर मिली है। केस दर्ज कर आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जा रही है।

ड्राइवर को अकेला छोड़कर भागे इंजीनियर

जेसीबी ड्राइवर के निधन की जानकारी के बाद परिजन भी मौके पर पहुंच गये। लोगों ने एलडीए इंजीनियरों पर गंभीर आरोप लगाए। परिजनों के मुताबिक अगर एलडीए इंजीनियर ताहिर को अकेले छोड़कर न भागते तो उनकी मौत न होती।

प्राधिकरण ने शाम को ड्राइवर का पोस्टमार्टम भी करवाया। बताया जा रहा है कि ताहिर की मौत हार्ट अटैक से हुई है। कोई जाहिरा चोट शरीर में नहीं दिखाई दिया है।