जब किस्मत से गए हार, तब सरकार से मिला उपहार 65 श्रमिकों को मिली नौकरी

Spread the love

लखनऊ :। चाहत थी कुछ किस्मत को पाने की, बलि चढ़ी सूरत शहर के नवयुवकों की, फिर से सोचे देश में नई शिक्षा नीति की बात छिड़े रोज़ी-रोटी और तरक्की की यह चंद लाइन वैश्विक महामारी के दौरान उन युवाओं के मर्म को उस वक्त उकेर देती है। जब कोविड-19 का असर युवा बेरोज़गारों पर कहीं हद तक पड़ा।

बेरोजगारी का दंश झेल रहे युवाओं को आनलाइन रोजगार मेले के जरिए रोजगार देने की पहल जून के अंतिम सप्ताह शुरू हुई जो बदस्तूर जारी है। आंकड़े बताते है कि, प्रदेश सरकार ने अब तक दो हजार से ज्यादा बेरोज़गारों और कुशल श्रमिकों को नौकरी का अवसर प्रदान किया है।

वहीं राजधानी के क्षेत्रीय सेवायोजन कार्यालय की ओर से पहला आनलाइन रोजगार मेला 25 जून को आयोजित किया गया था। सहायक निदेशक सेवायोजन सुधा पाण्डेय के मुताबिक, वैश्विक महामारी का बुरा असर युवाओं पर पडा था। कोराना काल से अब तक दो हजार से ज्यादा युवाओं को रोजगार दिया गया है।

यह भी पढ़े – यूपी में छोटे दल “बदलने” को तैयार -सियासत का समीकरण

65 ट्रेड में मिली नौकरी

विभाग के अधिकारियों की मानें तो, कोरोना काल में कौशल विकास के तहत 65 ट्रेड में कुशल श्रमिकों को रोजगार मिला है। जिसमें इलेक्ट्रीशियन, प्लबंर, आटोमोबाइल, कारपेंटर, ब्यूटीशियन, फोटोग्राफर, टीवी मैकेनिक, कारमिस्त्री, कम्प्यूटर इंजीनियर, मोबाइल मैकेनिक, पंप रिपेयर, इंजन मैकेनिक,शीट मेटल व खरादी जैसे 65 तरह के कौशल वाले श्रमिकों का पंजीयन कर रोजगार उन्हे मुहैया कराया गया।

बताया कि सेवायोजन विभाग की वेबसाइट sewayojan.up.nic.in पर युवा बेरोजगार पंजीयन करा सकते हैं। प्रवासी मजदूर, कामगार व अन्य लोग भी अपना आनलाइन रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। रजिस्ट्रेशन के दौरान जरूरी दस्तावेज और अन्य जानकारी भी वेबसाइट पर उपलब्ध है।

यह भी पढ़े – इंटरनेट यूज होने जा रहा महंगा, टेलीकॉम कंपनियों ने की तैयारी

लाॅकडाउन के बदल गया कारोबार

वैश्विक महामारी और देशव्यापी लाॅकडाउन के दौरान
बेरोजगार हो चुके लोगों को अपना घर खर्च चलाने के लिए अपना रोजगार बदलना पड़ा। मगर खर्च का सिलसिला बदस्तूर जारी रहा है।

लाॅकडाउन की तपिश में बच्चों ने अपने पढाई का बस्ता खूंटी पर टांग गली-मोहल्लों में सब्जी का ठेला लगाना शुरू कर दिया था। वहीं तमाम लोगों ने भी अपना कारोबार बदल कर सब्जी व मौसमी फल बेचना शुरू कर दिया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published.