मानव धर्म का पालन करते हुए निर्धन बच्चों को बांटे गए वस्त्र

लखनऊ : माता पिता और गुरु की सेवा करना, उनकी आज्ञा का पालन करना और उनके बताए हुए रास्ते पर चलना मानव धर्म का मुख्य उद्देश्य है। यह कार्य मानव जीवन में प्रत्येक व्यक्ति को हर हाल में करना चाहिए।

अपनी जीविका उपार्जन के पश्चात जो समय बचे ,जो धन बचे उसे जरूरतमंद और गरीब लोगों के मध्य वितरित कर देना चाहिए। इससे समाज में समता का माहौल बनेगा और हर व्यक्ति खुश नजर आएगा। इसी उद्देश्य से मैंने मानव धर्म मंदिर की स्थापना की थी।

news24on
news24on

लोगों को संदेश देने का प्रयास किया। अपने व्यस्त समय से कुछ समय निकालकर हम अपनी अधिवक्ता धर्म पत्नी के साथ गरीबों के लिए वस्त्र, भोजन और शिक्षा को निशुल्क प्रदान करने का तुच्छ प्रयास कर रहे हैं।

उपरोक्त विचार आज एसएसडी पब्लिक स्कूल अलीनगर सुनहरा, सरोजनी नगर ,लखनऊ के प्रबंधक और मानव धर्म मंदिर के संस्थापक राम आनंद सैनी ने वस्त्र वितरण के दौरान व्यक्त किए। उनकी धर्मपत्नी अधिवक्ता मंजू सैनी ने दर्जनों बच्चों और महिलाओं को वस्त्र वितरित किए।

बीरेन्द्र कुमार श्रीवास्तव की बिशेष रिपोर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published.