WTC Final : के आखिरी दिन मैच जीतने के लिए टीम इंडिया ने बनाई रड़नीति

Spread the love

WTC Final : नई दिल्ली. न्यूजीलैंड के खिलाफ वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में टीम इंडिया की मुश्किल में है. विराट कोहली की टीम ने दूसरी पारी में दो विकेट खोकर 64 रन बना लिए हैं और 32 रनों की बढ़त हासिल कर ली है. आज साउथैम्पटन के मैदान पर बारिश के आसार नहीं है यानि पूरे दिन खेल होगा. भारत आखिरी दिन ड्रॉ के लिए खेलेगा या न्यूजीलैंड को लक्ष्य देगा, इस पर मोहम्मद शमी ने टीम इंडिया का प्लान बताया है. भारतीय टीम बिना बड़े लक्ष्य के न्यूजीलैंड को बल्लेबाजी का मौका देकर कोई जोखिम नहीं लेना चाहती है.

तेज गेंदबाज मोहम्मद शमी ने पांचवें दिन की समाप्ति के बाद कहा, “टीम इंडिया ‘सेफ्टी फर्स्ट’ का नजरिया अपनाएगी. बारिश के कारण हमने बहुत समय गंवाया है. तो कुल स्कोर पर कोई चर्चा नहीं हुई है. हमने अभी अपनी दूसरी पारी शुरू की है और हमें बोर्ड पर रन बनाने की जरूरत है.”

WTC Final : हम उन्हें इतने ओवरों में आउट देंगे

शमी ने आगे कहा कि हमें ज्यादा से ज्यादा रन बनाने होंगे और फिर देखना होगा कितना समय बचा है, उसी अनुसार निर्णय लेंगे. इंग्लैंड में जैसी परिस्थितियां हैं, कुछ भी हो सकता है, लेकिन हमारे दिमाग में यह पहले से योजना नहीं हो सकती है कि हम उन्हें इतने ओवरों में आउट देंगे. आपको 10 विकेट लेने और कुछ ठोस योजनाएं बनाने के लिए समय चाहिए. लेकिन पहले हमें पर्याप्त बैक-अप रनों की जरूरत है.” शमी के कहने से लग रहा है कि भारत को मौजूदा परिस्थितियों में ड्रॉ से कोई दिक्कत नहीं होगी.

शमी भी अपने प्रयासों से खुश थे जिससे भारत को मैच में वापसी करने में मदद मिली. शमी ने कहा, “जाहिर है जब आप टेस्ट मैच खेलते हैं, तो आप पांच दिनों के लिए एक योजना पर टिके नहीं रह सकते. आपको लचीला होना चाहिए और ट्रैक के अनुसार लाइन सेट करनी चाहिए. हमें टाइट लाइन पर गेंदबाजी करने की जरूरत थी. लगाातर दबाव बनाए रखने की वजह से हमें विकेट मिले.” अनुभवी तेज गेंदबाज इस बात से खुश हैं कि वह अपने ड्यूटी को प्रभावी ढंग से निभाने में सक्षम हैं.

उन्होंने कहा, “जब भी मुझे जिम्मेदारी सौंपी गई है, मैंने अपना शत-प्रतिशत लगा दिया है. स्थिति कैसी भी हो, मुझे पता है कि कप्तान क्या चाहता है और फिर मैं उसके निर्देशों का पालन करता हूं. मैं हमेशा एक आक्रामक गेंदबाज रहा हूं जो विकेट के लिए जाता है.” क्या पांच विकेट से चूकने का कोई मलाल है? इस सवाल पर शमी ने कहा कि जब आप भारत के लिए खेलते हैं, तो आपको ऐसा कोई पछतावा नहीं होता है. आप निजी रिकॉर्ड्स के बारे में नहीं सोच सकते.

Leave a Reply

Your email address will not be published.