IND VS ENG : इंग्लैंड में जोरदार प्रदर्शन करने तैयार ये 3 खिलाड़ी

Spread the love

IND VS ENG : टीम इंडिया की नई दीवार कहे जाने वाले चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) बेहद ही खराब फॉर्म से जूझ रहे हैं. वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप (WTC) में उनका प्रदर्शन बेहद खबा रहा जिसके बाद टीम में उनकी जगह पर खतरा तक पैदा हो गया है.

नई दिल्ली. भारतीय टीम ने वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप का फाइनल गंवा दिया है और अब उसके सामने इंग्लैंड (India vs England) के खिलाफ पांच मैचों की टेस्ट सीरीज का चैलेंज है. टीम इंडिया के लिए ये सीरीज कतई आसान नहीं रहने वाली क्योंकि इंग्लैंड को उसके घर पर हराना बहुत ही मुश्किल है.

ऐसे में टीम इंडिया को अपनी हर कमजोरी दूर करनी होगी जो वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल (WTC Fial) में उजागर हुई. टीम इंडिया की नई दीवार माने जाने वाले चेतेश्वर पुजारा (Cheteshwar Pujara) भी अब टीम की कमजोरी बन चुके हैं. वर्ल्ड टेस्ट सीरीज में उनका प्रदर्शन बेहद खराब रहा और अब टीम में उनकी जगह पर खतरा मंडराने लगा है.

चेतेश्वर पुजारा ने वर्ल्ड टेस्ट सीरीज में 18 मैच खेले और वो महज 28.03 की औसत से 841 रन ही बना सके. पुजारा पूरी वर्ल्ड टेस्ट सीरीज के दौरान एक भी शतक नहीं लगा पाए और उन्होंने कुल 9 अर्धशतक जमाए.

वर्ल्ड टेस्ट सीरीज के फाइनल की दोनों पारियों में पुजारा का बल्ला खामोश रहा और अब टीम में उनकी जगह पर खतरा मंडराने लगा है. आइए आपको बताते हैं उन 3 खिलाड़ियों के बारे में जो इंग्लैंड टेस्ट सीरीज के दौरान उनकी जगह ले सकते हैं. ये खिलाड़ी लंबी रेस के घोड़े भी हैं.

IND VS ENG : हनुमा विहारी हैं पुजारा का विकल्प?

दाएं हाथ के बल्लेबाज हनुमा विहारी को भी भारत में टेस्ट फॉर्मेट का स्पेशलिस्ट बल्लेबाज माना जाता है. उनके अंदर लंबी पारियां खेलने का दम भी है. हनुमा ने अबतक 12 टेस्ट मैचों में 32.84 की औसत से 624 रन बनाए हैं जिसमें एक शतक और 4 अर्धशतक शामिल हैं. हनुमा विहारी को टीम इंडिया ने अबतक लगातार मौके नहीं दिये हैं और अकसर उनका बैटिंग ऑर्डर बदलता रहा है. उन्होंने टीम के लिए ओपनिंग तक की है.

Delta plus variant : कोरोना वायरस के मुक़ाबले डेल्टा प्लस वैरिएंट फेफड़ों में ज्यादा सक्रिय पाया गया

हनुमा विहारी नंबर 3 की पोजिशन पर अच्छे बल्लेबाज साबित हो सकते हैं. अगर टीम इंडिया इन्हें मौका देती है तो ये अपने प्रदर्शन के बूते काफी लंबे समय तक टेस्ट टीम का हिस्सा रह सकते हैं. हनुमा विहारी ने फर्स्ट क्लास क्रिकेट में 93 मैचों में 54.91 की औसत से 7194 रन बनाए हैं और वो तिहरा शतक भी ठोक चुके हैं. साफ है हनुमा विहारी के अंदर टैलेंट है और वो पुजारा का काम बखूबी कर सकते हैं.

केएल राहुल बन सकते हैं नंबर 3 के बल्लेबाज

इसमें कोई दो राय नहीं कि तकनीकी तौर पर केएल राहुल भारत के सबसे मजबूत बल्लेबाजों में से एक हैं. राहुल ने टीम इंडिया के लिए 36 टेस्ट मैचों में 2006 रन बनाए हैं, जिसमें 5 शतक शामिल हैं. राहुल ने बतौर ओपनर टीम इंडिया के लिए टेस्ट क्रिकेट खेला है लेकिन वो नंबर 3 की जिम्मेदारी भी संभाल सकते हैं. राहुल ने आखिरी बार 2019 में टेस्ट मैच खेला था लेकिन इंग्लैंड दौरे के लिए उन्हें भारतीय चयनकर्ताओं ने मौका दिया है ऐसे में उनका एक मौका तो बनता ही है.

मयंक अग्रवाल भी नंबर 3 पर खेल सकते हैं!

मयंक अग्रवाल ने अपने 14 टेस्ट मैचों के छोटे से करियर में 2 दोहरे शतक ठोकने का कारनामा किया है. वो वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप में भी 12 टेस्ट मैचों में 42 से ज्यादा की औसत से 857 रन बनाने में कामयाब रहे लेकिन इसके बावजूद उनकी ओपनिंग छिन गई. टीम इंडिया ने मयंक अग्रवाल पर शुभमन गिल को तरजीह दी. ऐसा लग रहा है कि टीम इंडिया ने गिल पर भरोसा जताने का फैसला किया है तो ऐसे में मयंक अग्रवाल को नंबर 3 पर मौका दिया जा सकता है. अग्रवाल इस पोजिशन पर भी रन बनाने का पूरा दम रखते हैं.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.