UP Vidhan Sabha Election 2022 : आचार संहिता के उल्लंघन पर Akhilesh Yadav का प्रचार रोकने की मांग,BJP ने निर्वाचन आयोग से की शिकायत

Spread the love

UP Vidhan Sabha Election 2022 :  निर्वाचन आयोग को भेजे गए एक और पत्र के जरिये भाजपा ने मतदाताओं को मोबाइल फोन स्विच आफ करके मतदान की अनुमति देने या फिर पोलिंग बूथ के बाहर हेल्प डेस्क पर मोबाइल फोन जमा करने की सुविधा देने की मांग भी की है।

लखनऊ, । BJP ने भारत निर्वाचन आयोग से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा आदर्श चुनाव आचार संहिता और लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम के उल्लंघन की शिकायत करते हुए उनके खिलाफ समुचित धाराओं में एफआइआर दर्ज कराने और उनके चुनाव प्रचार पर रोक लगाने की मांग की है।

मुख्य निर्वाचन आयुक्त को भेजे गए पत्र में भाजपा की ओर से बताया गया है कि अखिलेश यादव ने रविवार को अपने गांव सैफई के बूथ संख्या 239 पर वोट डालने के बाद बूथ के 100 मीटर के अंदर विभिन्न मीडिया चैनलों के सामने पूरा राजनीतिक भाषण दिया और अपनी पार्टी का प्रचार किया।

उन्होंने मतदाताओं तथा चुनाव को प्रभावित करने के लिए योजनाबद्ध तरीके से जान-बूझकर यह भाषण दिया जो कि आदर्श आचार संहिता और लोक प्रतिनिधित्व अधिनियम की धारा 126 का खुला उल्लंघन है।

UP Vidhan Sabha Election 2022 : BJP ने भारत निर्वाचन आयोग से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव चुनाव प्रचार पर रोक लगाने की मांग की है।

भाजपा के प्रदेश महामंत्री जेपीएस राठौर, चुनाव आयोग संपर्क विभाग के प्रदेश संयोजक अखिलेश कुमार अवस्थी, सह-संयोजक प्रखर मिश्र व नितिन माथुर की ओर से भेजे गए इस पत्र के साथ अखिलेश के वक्तव्य की सीडी भी संलग्न की गई है।

निर्वाचन आयोग को भेजे गए एक और पत्र के जरिये भाजपा ने मतदाताओं को मोबाइल फोन स्विच आफ करके मतदान की अनुमति देने या फिर पोलिंग बूथ के बाहर हेल्प डेस्क पर मोबाइल फोन जमा करने की सुविधा देने की मांग भी की है।

पार्टी का कहना है कि अभी मतदाताओं को बूथ के अंदर मोबाइल फोन के साथ जाने की अनुमति नहीं है। यदि कोई मतदाता मोबाइल फोन लेकर वोट डालने पहुंचता है तो उसे लौटा दिया जाता है। एक बार वापस जाने के बाद मतदाता फिर वोट डालने नहीं आ रहे हैं।