UP Block Pramukh Chunav: मुजफ्फरनगर, अमरोहा समेत कई जिलों में BJP-SP कार्यकर्ताओं में झड़प, प्रतापगढ़ में फायरिंग

Spread the love

लखनऊ.

UP Block Pramukh Chunav:उत्तर प्रदेश में ब्लॉक प्रमुख चुनाव (Block Pramukh Chunav) के 476 पदों के लिए शनिवार को मतदान जारी है. मतदान के दौरान कुछ इलाकों से झड़पें, बवाल, और हंगामा की खबरें सामने आ रही हैं. हमीरपुर में बीजेपी और सपा के कार्यकर्ताओं के बीच झड़प हो गई. जिसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया. मुजफ्फरनगर, अमरोहा, प्रतापगढ़ और लखीमपुर खीरी इलाके से हंगामे की खबरें सामने आई हैं.

लखीमपुर खीरी के सदर ब्लॉक में मतगणना स्थल पर जाने के लिए बसपा नेता मोहन वाजपेयी व उनके समर्थक गाड़ियों के काफिले संग पहुंचे. बैरियर पर मुस्तैद पुलिस ने मोहन को रोककर वापस जाने के लिए कहा, तो मोहन व उनके समर्थकों ने नारेबाजी शुरू कर दी. स्थिति तनावपूर्ण होते देख सीओ सिटी अरविंद कुमार वर्मा ने मोर्चा संभाला और उपद्रव करने का प्रयास करने वालों पर हल्का लाठीचार्ज किया. पुलिस ने मौके से दो युवकों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है.

वाराणसी ब्लॉक प्रमुख चुनाव: BDC सदस्यों के हाथ में ‘हैंड बैग’ बना चर्चा का केंद्र, जानिए पीछे की वजह

वहीं मुजफ्फरनगर के बुढ़ाना में मतदान के दौरान भाजपा विधायक उमेश मलिक के आते ही विरोधी गुट के समर्थकों ने हंगामा किया. उमेश मलिक को वहां से चले जाने की मांग की. इसी दौरान भाकियू के राष्ट्रीय अध्यक्ष चौधरी नरेश टिकैत भी वहां पहुंच गए. टिकैत ने एसपी क्राइम को इमानदारी से चुनाव करवाने की बात कही.

अमरोहा में मतदान के दौरान जमकर बवाल
उधर, अमरोहा के जोया ब्लॉक प्रमुख चुनाव में मतदान के दौरान जमकर बवाल हुआ. यहां सपा औऱ बीजेपी सर्मथकों के बीच मारपीट हुई. घटना से पुलिस प्रशासन में हड़कंप मच गया है. बता दें कि अमरोहा जनपद के जोया ब्लाक से समाजवादी पार्टी के कद्दावर नेता अमरोहा के विधायक पूर्व कैबिनेट मंत्री महबूब अली के भतीजे जुल्फिकार अली सपा के बैनर पर चुनाव लड़ रहे हैं जबकि बीजेपी ने पूर्व सांसद हरगोविंद सिंह के पुत्र कुशल को अपना प्रत्याशी बनाया है.

प्रतापगढ़ में कई राउंड फायरिंग
खबर प्रतापगढ़ से भी है. जिले के आसपुर देवसरा विकासखंड में ब्लॉक प्रमुख के चुनाव के दौरान सपा व पुलिस में भिड़ंत हो गई. सपा समर्थित प्रत्याशी के समर्थकों द्वारा पथराव के बाद पुलिस ने उन पर काबू पाने के लिए कई राउंड फायर किए जिसके बाद हंगामे के चलते मतदान बाधित हुआ. बताया जा रहा है कि बीडीसी सदस्य का वोट पहले से पड़ने पर सपा कार्यकर्ता भड़क गए.

सीएम योगी ने दिया कड़ी कार्रवाई का निर्देश
इसी कड़ी में सीएम योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि एक-एक विकास खंड की स्थिति पर सीधी नजर रखी जाए. विजयी और पराजित प्रत्याशियों को पुलिस निगरानी में उनके आवास तक पहुंचाने की व्यवस्था हो. उन्होंने कहा कि माहौल बिगाड़ने वाले लोगों के खिलाफ जीरो टॉलरेंस की नीति के साथ तत्काल कठोरतम कार्रवाई की जाए.