Population Control Bill: उत्तराखंड बनाएगा अपना अलग कानून, जानें धामी सरकार क्यों पढ़ रही है UP के बिल का मसौदा?

Population Control Bill: उत्तराखंड के गृह मंत्रालय से जुड़े अफसरों ने कहा कि यूपी के विधेयक से तथ्य जुटाने की कवायद शुरू हो चुकी है. जानिए कि यूपी का वह विधेयक कैसा है, जिसकी तर्ज़ पर उत्तराखंड आगे बढ़ सकता है.

देहरादून. जनसंख्या नियंत्रण विधेयक (Population Control Bill) के लिए उत्तर प्रदेश सरकार (UP Govt) ने जो मसौदा तैयार किया है, वह उत्तराखंड (Uttarakhand) के लिए अच्छा खासा संसाधन साबित हो सकता है. वास्तव में, उत्तराखंड सरकार अपने राज्य की जनसांख्यिकीय और सामाजिक
स्थितियों के मद्देनज़र अपना अलग कानून बनाने की कवायद कर रही है

,जिसके लिए यूपी के मसौदे का अध्ययन किया जा रहा है. इंडियन एक्सप्रेस की खबर के मुताबिक, यह कवायद पुष्कर सिंह धामी सरकार ने दो महीने पहले शुरू कर दी थी. जब आरएसएस से संबंद्ध 35 पदाधिकारियों ने सीएम धामी
से मुलाकात कर राज्य में असम और उत्तर प्रदेश की तर्ज पर जनसंख्या नियंत्रण कानून लाने की मांग की थी.

देहरादून में हुई इस बैठक के बाद ही सीएम धामी ने 15 अगस्त के अपने भाषण में यह ऐलान कर दिया था कि एक कमेटी बनाई गई, जो राज्य में इस तरह के असरदार कानून के लिए ज़रूरी तथ्य और परामर्श देगी. अब खबर में गृह मंत्रालय के एक अधिकारी के हवाले से कहा गया,

‘वह कमेटी हालांकि अभी तक नहीं बनी है, लेकिन जनसंख्या कानून के लिए यूपी के मसौदे का अध्ययन किया जा रहा है. राज्य के विधि विभाग के पास इसे भेजा गया है. जल्द ही उत्तराखंड में भी एक ऐसा कानून होगा.’