यूपी में भ्रष्‍टाचार बर्दाश्‍त नहीं, वसूली करने वालों को जेल में सड़ना होगा-CM योगी

सीएम योगी आदित्यनाथ ने कहा है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी बाजपेयी के सपनों को हकीकत में बदलकर देश को नई ऊंचाइयों तक पहुंचाने में लगे हैं। इसी क्रम में आज प्रधानमंत्री ने देशभर के नौ करोड़ से अधिक किसानों को पीएम किसान सम्मान निधि की अट्ठारह हजार करोड़ से ज्यादा की धनराशि उनके बैंक खातों में भेजकर उन्हें मदद पहुंचाई। सीएम ने यह बात शुक्रवार को भारत रत्न पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी की 97 वीं जयंती पर कहीं। वह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के किसानों से वर्चुअल संवाद के दौरान शुक्रवार को मोहनलालगंज ब्लाक में मौजूद थे।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने मोहनलालगंज ,सरोजनीनगर और बीकेटी के 9 किसानों को ट्रैक्टर की चाभी ,आयल मिल, राइस मिल और मोटे अनाज पीसने की मशीन खरीदने के लिए सब्सिडी स्वीकृति का प्रमाण पत्र दिया। अटल को श्रद्धांजलि अर्पित कर उनके जन्मदिन को सुशासन दिवस के रुप में मनाए जाने की बात कही।

मुख्यमंत्री ने आजादी के बाद अटल जी की सरकार को किसानों का सच्चा हितैषी बताया। सर्व शिक्षा अभियान ,प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना ,स्वर्णिम चतुर्भुज योजना और अन्नपूर्णा व अन्त्योदय योजना का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा अच्छी सड़कों से किसानों का आवागमन सुलभ हो सका। जिससे किसानों को अपनी उपज बाहर ले जाकर बिक्री करने में बेहद आसानी होने लगी। देश में हाईवे और हर हाथ में मोबाइल मुहैया कराने समेत अन्य योजनाओं से किसान और मजदूरों के परिवार आर्थिक स्वावलंबन के पथ पर अग्रसर हुए।

विपक्षी दलों पर किया हमला
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, जिन्हें अपनी सरकारों में किसान और गांवों के विकास के बारे में सोचने की फुर्सत नहीं मिली वो लोग अब किसानों को गुमराह कर रहे हैं। किसानों की उन्नति के लिए बनाए गए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। भ्रष्टाचार के मुद्दे पर विपक्षी दलों को घेरते हुए उन्होंने कहा कि पहले नौकरी के लिए युवाओं से वसूली की जाती थी। अब भाजपा सरकार में पिछले साढ़े तीन वर्ष के दौरान योग्यता पर नौकरी मिल रही है। पांच साल में चार लाख नौजवानों को नौकरी देने का लक्ष्य है। किसी ने भी वसूली की कोशिश की तो उसे पता है कि उन्हें जेल में सड़ना होगा।

कांग्रेस सरकार में सबसे ज्यादा किसानों ने की आत्महत्या
2004 से लेकर 2014 तक देश में सर्वाधिक किसानों ने आत्महत्या की। इसका जिक्र करते हुए सीएम ने कहा कि उस दौर में किसानों को दवा, बीज और खाद नहीं मिल पाती थी। किसानों की जमीनों पर निजी कालोनाइजर अवैध कब्जा कर लेते थे। किसानों की उपज का पूरा दाम नहीं मिल पाता लेकिन अब पीएम नरेन्द्र मोदी की सरकार में माफिया की छाती पर बुलडोजर चल रहा है। किसानों को खाद, बीज और न्यूनतम समर्थन मूल्य का लाभ आसानी से मिल रहा है। सीएम ने आरोप लगाया सपा और बसपा समर्थित यूपीए सरकार ने 12 साल तक स्वामीनाथन समिति की रिपोर्ट दबाकर रखी लेकिन भाजपा सरकार में अब समिति की सिफारिशें लागू कर किसानों को उपज का डेढ़ गुना दाम दिया जा रहा है। 2017 में यूपी में भाजपा सरकार बनने के बाद 86 लाख किसानों को कर्जमाफी का लाभ दिया गया। गन्ना किसानों को एक लाख बारह हजार करोड़ का भुगतान किया जा चुका है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, पीएम मोदी ने महाशक्ति बनाकर भारत के प्रति दुनिया का नजरिया बदल दिया है। सीएम ने कहा 826 विकासखण्ड समेत पूरे प्रदेश में तीन हजार से अधिक स्थानों पर आज सुशासन दिवस का कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। सीएम ने कहा, पीएम किसान सम्मान निधि से उत्तर प्रदेश के दो करोड़ तीस लाख किसान समेत देशभर के नौ करोड़ से अधिक किसानों को आज धनराशि की किश्त जारी की जा रही है इस योजना से किसानों को सालभर में तीन किश्त के द्वारा छह हजार रुपये की धनराशि दी जाती है।

किसान बिल से उपज बेचने में किसानों को होगी सहूलियत-सांसद
कार्यक्रम में मौजूद भाजपा के क्षेत्रीय सांसद कौशल किशोर ने कृषक बिल को किसानों के लिए बेहद लाभकारी बताया। कहा किसानों और व्यापारियों को अब फसल उपज बिक्री के लिए बाहर ले जाने पर मण्डी शुल्क समेत अन्य किसी भी तरह का टैक्स नहीं देना पड़ेगा। सांसद ने कहा, सरकार ने किसानों को सिंचाई की बेहतर सुविधा देने के लिए जलशक्ति मंत्रालय बना दिया है। जिससे नलकूप स्थापना के साथ नहरों में टेल तक पानी पहुंचाया जा रहा है।

इस मौके पर मुख्यमंत्री ने मोहनलालगंज ,सरोजनीनगर और बीकेटी के 9 किसानों को ट्रैक्टर की चाभी ,आयल मिल, राइस मिल और मोटे अनाज पीसने की मशीन खरीदने के लिए सब्सिडी स्वीकृति का प्रमाण पत्र दिया। अटल को श्रद्धांजलि अर्पित कर उनके जन्मदिन को सुशासन दिवस के रुप में मनाए जाने की बात कही। मुख्यमंत्री ने आजादी के बाद अटल जी की सरकार को किसानों का सच्चा हितैषी बताया। सर्व शिक्षा अभियान ,प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना ,स्वर्णिम चतुर्भुज योजना और अन्नपूर्णा व अन्त्योदय योजना का उल्लेख करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा अच्छी सड़कों से किसानों का आवागमन सुलभ हो सका। जिससे किसानों को अपनी उपज बाहर ले जाकर बिक्री करने में बेहद आसानी होने लगी। देश में हाईवे और हर हाथ में मोबाइल मुहैया कराने समेत अन्य योजनाओं से किसान और मजदूरों के परिवार आर्थिक स्वावलंबन के पथ पर अग्रसर हुए।

विपक्षी दलों पर किया हमला
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, जिन्हें अपनी सरकारों में किसान और गांवों के विकास के बारे में सोचने की फुर्सत नहीं मिली वो लोग अब किसानों को गुमराह कर रहे हैं। किसानों की उन्नति के लिए बनाए गए कृषि कानूनों का विरोध कर रहे हैं। भ्रष्टाचार के मुद्दे पर विपक्षी दलों को घेरते हुए उन्होंने कहा कि पहले नौकरी के लिए युवाओं से वसूली की जाती थी। अब भाजपा सरकार में पिछले साढ़े तीन वर्ष के दौरान योग्यता पर नौकरी मिल रही है। पांच साल में चार लाख नौजवानों को नौकरी देने का लक्ष्य है। किसी ने भी वसूली की कोशिश की तो उसे पता है कि उन्हें जेल में सड़ना होगा।

कांग्रेस सरकार में सबसे ज्यादा किसानों ने की आत्महत्या
2004 से लेकर 2014 तक देश में सर्वाधिक किसानों ने आत्महत्या की। इसका जिक्र करते हुए सीएम ने कहा कि उस दौर में किसानों को दवा, बीज और खाद नहीं मिल पाती थी। किसानों की जमीनों पर निजी कालोनाइजर अवैध कब्जा कर लेते थे। किसानों की उपज का पूरा दाम नहीं मिल पाता लेकिन अब पीएम नरेन्द्र मोदी की सरकार में माफिया की छाती पर बुलडोजर चल रहा है। किसानों को खाद, बीज और न्यूनतम समर्थन मूल्य का लाभ आसानी से मिल रहा है।

सीएम ने आरोप लगाया सपा और बसपा समर्थित यूपीए सरकार ने 12 साल तक स्वामीनाथन समिति की रिपोर्ट दबाकर रखी लेकिन भाजपा सरकार में अब समिति की सिफारिशें लागू कर किसानों को उपज का डेढ़ गुना दाम दिया जा रहा है। 2017 में यूपी में भाजपा सरकार बनने के बाद 86 लाख किसानों को कर्जमाफी का लाभ दिया गया। गन्ना किसानों को एक लाख बारह हजार करोड़ का भुगतान किया जा चुका है।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा, पीएम मोदी ने महाशक्ति बनाकर भारत के प्रति दुनिया का नजरिया बदल दिया है। सीएम ने कहा 826 विकासखण्ड समेत पूरे प्रदेश में तीन हजार से अधिक स्थानों पर आज सुशासन दिवस का कार्यक्रम आयोजित किया जा रहा है। सीएम ने कहा, पीएम किसान सम्मान निधि से उत्तर प्रदेश के दो करोड़ तीस लाख किसान समेत देशभर के नौ करोड़ से अधिक किसानों को आज धनराशि की किश्त जारी की जा रही है इस योजना से किसानों को सालभर में तीन किश्त के द्वारा छह हजार रुपये की धनराशि दी जाती है।

किसान बिल से उपज बेचने में किसानों को होगी सहूलियत-सांसद
कार्यक्रम में मौजूद भाजपा के क्षेत्रीय सांसद कौशल किशोर ने कृषक बिल को किसानों के लिए बेहद लाभकारी बताया। कहा किसानों और व्यापारियों को अब फसल उपज बिक्री के लिए बाहर ले जाने पर मण्डी शुल्क समेत अन्य किसी भी तरह का टैक्स नहीं देना पड़ेगा। सांसद ने कहा, सरकार ने किसानों को सिंचाई की बेहतर सुविधा देने के लिए जलशक्ति मंत्रालय बना दिया है। जिससे नलकूप स्थापना के साथ नहरों में टेल तक पानी पहुंचाया जा रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.