अखिलेश यादव के विधायक हुए भाजपाई

Spread the love

 

लखनऊ । उत्तर प्रदेश में विधानसभा चुनाव से पहले समाजवादी पार्टी  के विधायक सुभाष पासी मंगलवार को भारतीय जनता पार्टी शामिल हो गए। भाजपा में शामिल होने से चंद घंटों पहले ही पासी को सपा ने निष्कासित किया था।

गाजीपुर की सैदपुर विधानसभा सीट से सपा के विधायक पासी और उनकी पत्नी रीना पासी को भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्रदेव सिंह ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण कराई।

सुभाष पासी के भाजपा में शामिल होने की सुगबुगाहट सियासी गलियारों में तेज होते ही सपा नेतृत्व ने उन्हें पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के कारण पार्टी से निष्कासित करने की घोषणा कर दी।

सपा ने उनके निष्कासन की आधिकारिक घोषणा करते हुए कहा, गाजीपुर की सैदपुर विधानसभा से सपा विधायक सुभाष पासी जी को पार्टी विरोधी गतिविधियों में शामिल होने के कारण पार्टी से निष्कासित किया जाता है।

हाल ही में सीतापुर से भाजपा के विधायक राकेश राठौर के अलावा बसपा के छह नष्किासित विधायकों को सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने पार्टी की सदस्यता दिलायी थी।

 

सुभाष पासी मूल रूप से मालवीय नगर, नगर पंचायत सैदपुर, के रहने वाले हैं उनकी पत्नी रीना पासी जिला पंचायत की अध्यक्ष भी रह चुकी हैं।

उन्होंने वर्ष 1975 में पुणे बोर्ड महाराष्ट्र से हाईस्कूल तक की शिक्षा प्राप्त की। वर्ष 2012 में चुनाव लड़े और विधायक बन गए। इनका मुख्य कारोबार मुंबई में है और परिवार के साथ वहीं रहते हैं।