महाराष्ट्र में सोमवार तक टीकाकरण बंद जाने कारण जाने कारण क्या है ?

Spread the love

स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे ने कहा कि कोविन ऐप में गड़बड़ी के चलते टीकाकरण कार्यक्रम 18 जनवरी तक रोक दिया गया है.

नई दिल्ली. महाराष्ट्र में कोरोना वायरस टीकाकरण (Coronavirus Vaccination) कार्यक्रम सोमवार तक स्थगित कर दिया गया है. दरअसल कोरोना टीकाकरण कार्यक्रम कोविन ऐप के जरिए चल रहा है, और शनिवार को स्वास्थ्य मंत्री राजेश टोपे (Rajesh Tope) ने कहा कि कोविन ऐप (Co-WIN) में गड़बड़ी के चलते टीकाकरण कार्यक्रम 18 जनवरी तक रोक दिया गया है.

ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन की अनुमति

मुंबई म्युनिसिपल कॉरपोरेशन ने शनिवार को जारी एक बयान में कहा, “16 जनवरी को कोरोना वायरस टीकाकरण कार्यक्रम के दौरान कोविन-ऐप में तकनीकी खामी देखने को मिली है. केंद्र सरकार की ओर से समस्या का समाधान करने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं, क्योंकि टीका लगवाने के लिए डिजिटल रजिस्ट्रेशन का होना अनिवार्य है. समस्या को देखते हुए सरकार ने शनिवार को ऑफलाइन रजिस्ट्रेशन की अनुमति दी.

news24on
news24on

हालांकि सरकार ने निर्देश दिया है कि आगे से सभी एंट्री ऐप के जरिए की जाएंगी. तकनीकी खामी की वजह से टीकाकरण कार्यक्रम को सोमवार तक स्थगित कर दिया गया है. कोविन-ऐप की गड़बड़ी ठीक होने के बाद टीकाकरण कार्यक्रम दोबारा शुरू होगा.

कुछ ही घंटे पहले वैक्सीन लगवाने की जानकारी दी

बता दें कि कोरोना वायरस टीकाकरण कार्यक्रम की शुरुआत के मौके पर शनिवार को देश के जाने माने डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मियों को वैक्सीन के टीके लगाए गए. टीका लगवाने वाले कई डॉक्टरों ने कहा कि उनका मकसद वैक्सीन को लेकर लोगों के भीतर व्याप्त डर को दूर करना है. बीएमसी का दावा रहा कि पहले दिन टीकाकरण कार्यक्रम सुचारू रूप से चला, तो टीका लगवाने कुछ लोगों ने दावा किया कि उन्हें कुछ ही घंटे पहले वैक्सीन लगवाने की जानकारी दी गई.

news24on
news24on

टीका सुरक्षित है

निगम संचालित सियान अस्पताल और मेडिकल कॉलेज के डीन मोहन जोशी को सबसे पहले वैक्सीन का टीका लगाया गया. इसके बाद 42 अन्य डिपार्टमेंट के प्रमुख और एसोसिएट प्रोफेसरों को टीके लगाए गए. जोशी ने कहा, “”टीका सुरक्षित है और सभी स्वास्थ्य कर्मियों को टीका जरूर लगवाना चाहिए जिससे कि वायरस संक्रमण से सबका बचाव हो सके.”

जोशी के साथी सहकर्मी डॉ. नीलकांत अवाद ने कहा, “ये मेरी जिंदगी का ऐतिहासिक दिन है. वैक्सीन के जरिए महामारी को काबू करने में मदद मिलेगी, लेकिन लोगों को सोशल डिस्टैंसिंग और मास्क पहनना जारी रखना होगा, ताकि ज्यादा बेहतर परिणाम मिल सके.”

Leave a Reply

Your email address will not be published.