Supreme Court सुप्रीम कोर्ट : जेलों में तंबाकू और अन्य प्रतिबंधित चीजें कैसे पहुंचती हैं? मांगा हलफनामा

Spread the love

नई दिल्ली। सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने तिहाड़ जेल और गृह मंत्रालय (Ministry of Home Affairs) से पूछा है कि देश की सबसे सुरक्षित जेल में तंबाकू या फिर प्रतिबंधित सामग्री भीतर कैदियों तक कैसे पहुंच जाती है? सुप्रीम कोर्ट के कहा कि यह स्थिति चौकाने वाली है।

कोर्ट ने इस बाबत तिहाड़ जेल और गृह मंत्रालय से हलफनामा दाखिल कर जवाब देने को कहा है। इतना ही नहीं सुप्रीम कोर्ट ने तिहाड़ जेल से यह भी पूछा कि आखिर तिहाड़ जेल में सीसीटीवी फुटेज का 4 दिन का ही स्टोरेज क्यों है? उससे ज्यादा दिनों का बैकअप क्यों नहीं है?

इतना ही नहीं सुप्रीम कोर्ट ने तिहाड़ जेल अथॉरिटी से यह भी पूछा है कि जेल में मौजूदा संख्या से ज्यादा सीसीटीवी कैमरे लगाने को लेकर क्या कदम उठाया गया है?

Supreme Court कैदी के साथ हिंसा मामले में दाखिल याचिका

दरअसल सुप्रीम कोर्ट तिहाड़ जेल में एक कैदी के साथ हिंसा मामले में दाखिल याचिका पर सुनवाई कर रहा है। सुप्रीम कोर्ट ने पांच अप्रैल तक हलफनामा दाखिल करने के लिए कहा है।

बता दें कि पिछले दिनों मुंबई में मुकेश अंबानी के घर के बाहर मिले कार में विस्फोटक और जैश-उल-हिंद की धमकी के मामले में दिल्ली पुलिस की स्पेशल सेल ने तिहाड़ जेल में छापेमारी की थी। उसे धमकी देने वाले जैश-उल-हिंद के टेलीग्राम चैनल का लिंक यही से मिला था। स्पेशल सेल ने इंडियन मुजाहिदीन के एक आतंकी के बैरक से मोबाइल फोन सीज किया था। इससे जेल की सुरक्षा पर सवाल खड़ा हो गए थे कि आखिर एक आतंकी तक कैसे मोबाइल पहुंच गया, जबकि ये हाई सिक्योरिटी वार्ड में होते हैं।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.