जम्मू-कश्मीर में ग्रेनेड के साथ लश्कर-ए-मुस्तफा का आतंकी गिरफ्तार

Spread the love

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बताया कि लश्कर-ए-मुस्तफा कश्मीर में जैश-ए-मोहम्मद की एक शाखा है. आतंकी हिदायतुल्लाह को जम्मू में कुंजवानी के नजदीक गिरफ्तार किया गया. उसके पास से एक पिस्टल और एक ग्रेनेड भी बरामद हुआ.

श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर में सुरक्षाबलों को एक बड़ी कामयाबी मिली, जब शनिवार को लश्कर-ए-मुस्तफा के आतंकवादी हिदायतुल्लाह मलिक को गिरफ्तार कर लिया गया. जम्मू और अनंतनाग पुलिस के संयुक्त अभियान में हिदायतुल्लाह को गिरफ्तार करने में कामयाबी मिली.

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने बताया कि लश्कर-ए-मुस्तफा कश्मीर में जैश-ए-मोहम्मद की एक शाखा है. जम्मू पुलिस के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (एसएसपी) श्रीधर पाटिल ने कहा, “हमने खुद को लश्कर-ए-मुस्तफा के चीफ बता रहे हिदायतुल्ला मलिक को गिरफ़्तार किया है, उसके पास से हथियार बरामद हुए हैं। जब हम उसे गिरफ़्तार करने गए थे तब उसने हमारी पुलिस पार्टी पर हमला करने की कोशिश की .

हमला करने की कोशिश

इस आतंकी को जम्मू शहर के बाहरी इलाके में पुलिस ने एक कार को रोककर गिरफ्तार किया। अधिकारियों ने कहा कि संदिग्ध दक्षिण कश्मीर के शोपियां जिले का रहने वाला है. उन्होंने बताया कि निजी वाहन को पुलिस ने एक विशेष सूचना पर कुंजवानी बाईपास पर रोक लिया, जिसके बाद सुरक्षाबलों ने आतंकी गिरफ्तार किया।

मुंह तोड़ जवाब

इससे पहले पाकिस्तानी सैनिकों ने बीते 2 फरवरी को गोलीबारी और गोलाबारी कर जम्मू-कश्मीर के पुंछ जिले में नियंत्रण रेखा के पास अग्रिम चौकियों को निशाना बनाया था, जिसका भारतीय सैनिकों ने भी मुंह तोड़ जवाब दिया था.

रक्षा प्रवक्ता ने कहा, ‘मंगलवार दोपहर करीब पौने तीन बजे पाकिस्तानी सेना ने पुंछ जिले के मनकोटे सेक्टर में नियंत्रण रेखा के पास बिना किसी उकसावे के छोटे हथियारों से गोलीबारी कर और मोर्टार दाग संघर्ष विराम समझौते का उल्लंघन किया.’’ उन्होंने बताया कि भारतीय सेना ने भी इसका मुंहतोड़ जवाब दिया.

संघर्ष विराम समझौते का उल्लंघन

अधिकारियों ने बताया कि पाकिस्तानी सैनिकों ने कसबा, करनी और मेंढार सेक्टर में भी गोलाबारी और गोलीबारी की थी. जम्मू-कश्मीर में नियंत्रण रेखा के पास 2020 में पाकिस्तान ने सर्वाधिक 5400 से अधिक बार संघर्ष विराम समझौते का उल्लंघन किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.