जयपुर नगर पालिका चुनाव में भाजपा का सूपड़ा साफ

जयपुर जिले की 10 नगर पालिकाओं में भाजपा का सूपड़ा साफ हो गया। यहां एक भी नगर पालिका में भाजपा अपना बोर्ड नहीं बना सकी।

9 नगर पालिकाओं में कांग्रेस के चेयरमैन बने। इसके अलावा एक नगर पालिका में कांग्रेस के बागी को जीत हासिल हुई। जयपुर जिले में भाजपा का खाता नहीं खुला।

खास बात है कि पिछली बार हुए चुनाव में जयपुर की 10 में से 9 नगर पालिका में भाजपा ने अपना बोर्ड बनाया था। सिर्फ चाकसू नगर पालिका थी, जहां भाजपा की जीत नहीं हुई थी।

ऐसे में देखा जाए तो इस बार पूरा मामला उलट गया है। इनमें सबसे पहले शाहपुरा और विराटनगर नगर पालिका का परिणाम कांग्रेस के पक्ष में गया। यहां दोनों चेयरमैन कांग्रेस के बनें।

कांग्रेस ने चौमूं, शाहपुरा में 10 साल बाद कब्जा जमाया। इसके बाद कांग्रेस के बाजी मारने वाले नवनिर्वाचित चेयरमैन समर्थकों और पार्टी कार्यकर्ताओं ने जमकर आतिशबाजी की। नारेबाजी की। एक दूसरे को मिठाई खिलाई।

बता दें कि जयपुर जिले में चौमूं, रेनवाल, जोबनेर, फुलेरा, बगरू, चाकसू व सांभर लेक नगर पालिकाओं में 220 निर्वाचित पार्षदों ने चेयरमेन पद के नामांकन दाखिल करने वाले 17 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला किया।

वहीं शाहपुरा, कोटपूतली व विराटनगर नगरपालिका मंडल के लिए 100 पार्षद मतदान कर अपने बोर्ड का चेयरमैन चुना।

शाहपुरा में 10 साल बाद कांग्रेस ने नगर पालिका बोर्ड पर कब्जा जमाया। यहां कांग्रेस के पार्षद बंशीधर सैनी बोर्ड चेयरमैन बने हैं। विराट नगर में कांग्रेस की सुमिता सैनी चेयरमैन बनीं। उन्हे 20 मत हासिल हुए। भाजपा प्रत्याशी को पांच वोट मिले।

चौमूं नगर पालिका में भी कांग्रेस ने कब्जा बनाया। यहां चौमूं विधानसभा क्षेत्र से कांग्रेस के पूर्व विधायक भगवान सहाय सैनी के बेटे विष्णु सैनी नगर पालिका के चेयरमैन निर्वाचित हुए।

कोटपूतली नगर पालिका में भी कांग्रेस ने परचम लहराया। यहां चेयरमैन पद पर कांग्रेस प्रत्याशी पुष्पा सैनी निर्वाचित हुई। पुष्पा सैनी को 18 वोट मिले। वे पहली बार चुनाव लड़ी थीं। चाकसू नगर पालिका में भी कांग्रेस का बोर्ड बना। 19 वोट हासिल कर कांग्रेस के कमलेश बैरवा चेयरमैन बने हैं।

फुलेरा नगर पालिका में भी पूर्ण बहुमत से कांग्रेस का बोर्ड बना। यहां भाजपा ने अपना प्रत्याशी नहीं उतारा था। कांग्रेस पार्षद संगीता अग्रवाल नगर पालिका चेयरमैन निर्वाचित हुई। संगीता को 14 वोट मिले।

सांभर नगर पालिका में भी कांग्रेस के बालकिशन बोर्ड चेयरमैन बने। बालकिशन को 14 मत मिले। भाजपा के अनिल गट्टानी को 11 वोट मिले। किशनगढ़ रेनवाल नगर पालिका में कांग्रेस पार्षद अमित कुमार जैन चेयरमैन बने हैं। अमित जैन को 24 मत मिले। बगरु नगर पालिका में कांग्रेस से टिकट नहीं मिलने पर बागी होकर वार्ड सदस्य का चुनाव लड़ने वाले मालूराम मीणा चेयरमैन बने। वे पहले भी दो बार चेयरमैन रह चुके हैं।

जोबनेर नगरपालिका में कांग्रेस की महिला पार्षद मंजू देवी चेयरमैन बनीं। मंजू देवी को 15 वोट मिले। वहीं भाजपा के प्रत्याशी धर्मवीर सिंह को सिर्फ 5 वोट मिले।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.