Tokyo Olympics: में भारतीयों की उम्मीद टूटी भारतीय महिला हॉकी टीम सेमीफाइनल हारी

Tokyo Olympics: नई दिल्ली. अपनी दिलेरी और जुझारूपन से इतिहास रच चुकी भारतीय महिला हॉकी टीम (Indian Womens Hockey Team) का ओलंपिक में पहली बार गोल्ड जीतने का सपना दुनिया की दूसरे नंबर की टीम अर्जेंटीना ने सेमीफाइनल में 2-1 से जीत के साथ तोड़ दिया.

भारतीय खिलाड़ियों के दिल इस हार से जरूर टूटे होंगे लेकिन उनका सिर फख्र से ऊंचा होगा क्योंकि ओलंपिक (Tokyo Olympics) जाने से पहले किसी ने उनके अंतिम चार में पहुंचने की कल्पना भी नहीं की थी. भारत के पास अभी भी कांस्य पदक जीतने का मौका है जिसके लिये शुक्रवार को उसका सामना ग्रेट ब्रिटेन से होगा. फाइनल में अर्जेंटीना का सामना नीदरलैंड से होगा.

Tokyo Olympics: अर्जेंटीना के डिफेंडरों ने कामयाब नहीं होने दिया

तीसरे क्वार्टर में भारत ने आक्रामक शुरूआत की और नेहा ने बायें फ्लैंक से गेंद लेकर डी के भीतर पहुंचाने की कोशिश की लेकिन कामयाबी नहीं मिली. इस बीच अर्जेंटीना ने पेनल्टी कॉर्नर की मांग करते हुए अपना रेफरल गंवा दिया. जवाबी हमले में अर्जेंटीना ने पेनल्टी कॉर्नर बनाया जिसे गोल में बदलकर मारिया ने टीम को बढ़त दिला दी.

भारत ने इस पेनल्टी के खिलाफ रेफरल भी लिया जो असफल रहा. आखिरी क्वार्टर में भारतीय खिलाड़ियों ने गोल करने की भरसक कोशिश की लेकिन अर्जेंटीना के डिफेंडरों ने उन्हें कामयाब नहीं होने दिया.

आखिरी सीटी बजने से कुछ सेकंड पहले सर्कल के बाहर से उदिता की हिट पर नवनीत कौर के शॉट को अर्जेंटीना के डिफेंडर ने बाहर कर दिया. भारतीयों ने खतरनाक तरीके से गेंद के उछलने को लेकर रेफरल मांगा जो टीवी अंपायर ने खारिज कर दिया.

महिला टीम की तरह ही भारतीय पुरुष हॉकी टीम के पास भी कांस्य पदक जीतने का मौका है. पुरुष हॉकी टीम गुरुवार (5 अगस्त) को तीसरे स्थान के लिए जर्मनी से भिड़ेगी. पुरुष हॉकी टीम ने अपना आखिरी पदक मॉस्को ओलंपिक 1980 में स्वर्ण पदक के रूप में जीता था.

One thought on “Tokyo Olympics: में भारतीयों की उम्मीद टूटी भारतीय महिला हॉकी टीम सेमीफाइनल हारी

Comments are closed.