army उरी ऑपरेशन में सेना को बड़ी सफलता, जिंदा पकड़ा गया लश्कर का एक आतंकी

जम्मू कश्मीर के उरी सेक्टर में एक ऑपरेशन के दौरान लश्कर-ए-तैयबा का एक आतंकी जिंदा पकड़ा गया है। भारतीय सेना के अधिकारियों ने एएनआईसे बातचीत में कहा कि आतंकी अली बाबर पात्रा ने सेना के सामने आत्मसमर्पण किया है। आतंकी पाकिस्तान के पंजाब के ओखरा का रहने वाला बताया
जा रहा है।

19 इन्फैंट्री डिवीजन के जीओसी मेजर वीरेंद्र वत्स का कहना है कि पिछले कुछ दिनों से जारी उरी ऑपरेशन के दौरान सेना को बड़ी सफलता मिली है।
सात दिनों के इस ऑपरेशन में अभी तक सेना 7 आतंकियों को मार चुकी है, जबकि एक आतंकी जिंदा पकड़ा गया है। इसके अलावा इस ऑपरेशन में
सेना को एके 47 के सात हथियार, 9 पिस्टल और रिवॉल्वर बरामद हुए हैं। साथ ही 80 से अधिक ग्रेनेड और भारतीय और पाकिस्तना की बड़ी मात्रा में
करेंसी बरामद हुई है।

सेना के अधिकारियों ने बताया कि गिरफ्तार आतंकी बाबर की उम्र महज 19 साल है. अली बाबर आतंकी संगठन लश्कर-ए-तैयबा का सदस्य है. जो
पाकिस्तान में करीब तीन महीने की आतंकी ट्रेनिंग ले चुका है. आतंकियों की घुसपैठ का मकसद 2016 के उरी जैसे बड़े हमले को अंजाम देना था.