BCCI यूएई और ओमान में T20 वर्ल्ड कप की मेजबानी के लिए तैयार, भारत नहीं आना चाहते विदेशी खिलाड़ी

बीसीसीआइ के एक पदाधिकारी ने कहा कि कोरोना के कारण भारत मे आयोजन संभव नहीं है। सबसे बड़ी समस्या विदेशी खिलाड़ी हैं। इसमें 15 विदेशी टीम खेलेंगी जो भारत में कोरोना के कारण आने को तैयार नहीं होंगी।

भारत में अक्टूबर-नवंबर में प्रस्तावित टी-20 विश्व कप का आयोजन संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) और ओमान में आयोजित करने की तैयारी शुरू हो गई है। दैनिक जागरण ने शनिवार को ही बता दिया था कि कोरोना वायरस के कारण टी-20 विश्व कप भारत में नहीं होगा। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआइ) ने आंतरिक रूप से आइसीसी (अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद) को इसकी सूचना दे दी है। इस टूर्नामेंट के लिए यूएई हमेशा पहला विकल्प था, अक्टूबर के अंतिम सप्ताह में शुरू होने वाले विश्व कप के लिए अबू धाबी, दुबई और शारजाह के साथ ओमान की राजधानी मस्कट को चौथे स्थल के रूप में जोड़ा गया है।

बीसीसीआइ के एक पदाधिकारी ने कहा कि कोरोना के कारण भारत मे आयोजन संभव नहीं है। सबसे बड़ी समस्या विदेशी खिलाड़ी हैं। इसमें 15 विदेशी टीम खेलेंगी जो भारत में कोरोना के कारण आने को तैयार नहीं होंगी।

पदाधिकारी ने कहा कि बीसीसीआइ ने आइसीसी बोर्ड की बैठक के दौरान औपचारिक रूप से अंतिम निर्णय लेने के लिए चार सप्ताह का समय मांगा था लेकिन आंतरिक रूप से अपनी मेजबानी में टूर्नामेंट के यूएई और ओमान में आयोजन पर सहमति जता दी थी। 16 टीम की प्रतियोगिता के प्रारंभिक दौर के मैचों के लिए मस्कट को विशेष रूप से मेजबान के तौर पर रखा गया है। इससे इंडियन प्रीमियर लीग (आइपीएल) के 31 मैचों की मेजबानी करने वाले यूएई के तीन मैदानों को तरोताजा होने के लिए पर्याप्त समय मिल सकेगा। इसकी वजह से अब आइपीएल के डबल हेडर कम करके फाइनल को 10 की जगह 18 अक्टूबर में करा सकते हैं।

विश्व कप के क्वालीफाइंग दौर के मैच ओमान में हो जाएंगे और नवंबर के शुरुआत में होने वाले मुख्य मैच यूएई में शुरू होंगे। इससे वैश्विक प्रतियोगिता के लिए पिचों को तैयार करने के लिए दो सप्ताह का समय मिलेगा। भारत में इन दिनों कोविड-19 संक्रमण के 120000 से अधिक मामले रोजाना आ रहे हैं, जो कि अप्रैल के अंत और इस महीने की शुरुआत में आने वाले मामलों के मुकाबले में एक तिहाई के करीब हैं। बीसीसीआइ के पदाधिकारी ने कहा कि ऐसी स्थिति में अगर हम आयोजन का खतरा उठाते हैं और कुछ टीमें या खिलाड़ी भारत आने से मना कर देते तो हमारी छवि खराब होती। आइपीएल का बचा स्तर यूएई में होगा और उसमें भाग लेने वाले खिलाड़ी एक बायो-बबल (कोरोना से बचाव के लिए तैयार किया गया सुरक्षित माहौल) से दूसरे बायो-बबल में आसानी से शिफ्ट हो जाएंगे।

बीसीसीआइ से बातचीत कर रहा है ओमान क्रिकेट

ओमान क्रिकेट के सचिव मधु जेसरानी ने कहा, ‘आइसीसी ने हमसे संपर्क किया है। ओमान क्रिकेट के अध्यक्ष पंकज खिमजी बीसीसीआइ के साथ बातचीत कर रहे हैं, जिसे मूल रूप से टूर्नामेंट की मेजबानी करनी है। हमने उनसे कहा है कि हम इसके लिए तैयार हैं। हमारे पास दो टर्फ पिच मैदान हैं, जिनमें से एक में फ्लडलाइट लगी हुई है।’ ओमान इस साल होने वाले टी-20 विश्व कप में हिस्सा लेने वाली 16 टीमें से एक है। इस देश में क्रिकेट पूरी तरह बिजनेस आधारित है और इसकी देखरेख खिमजी रामदास कर रहे हैं, जो भारतीय मूल के व्यवसायी हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.