Amarnath : गुफा के पास बादल फटा ,,BSF, CRPF & जम्मू पुलिस के कैंप को नुकसान पहुंचने की आशंका

Spread the love

Amarnath : श्रीनग के जम्मू-कश्मीर में अमरनाथ गुफा के पास बादल फटा (Cloudburst) है. बादल फटने से गुफा के आसपास नुक़सान की आशंका है. अभी तक किसी के हताहत होने की जानकारी नहीं मिली है.

बादल फटने के समय गुफ़ा में कोई यात्री नहीं था. हालांकि बीएसएफ, सीआरपीएफ और जम्मू पुलिस के कैंप को नुकसान पहुंचने की आशंका है. एसडीआरएफ की 2 टीमें पहले से वहां हैं. एक और टीम गांदरबल से रेस्क्यू और राहत बचाव के लिए भेजी गई है.

अधिकारियों के अनुसार भारी बारिश और पवित्र अमरनाथ गुफा के पास बादल फटने के चलते गुंड और कंगन में लोगों को सिंध नदी से दूर रहने की सलाह दी गई है. चेतावनी में कहा गया है कि नदी के जलस्‍तर में अचानक इजाफा हो सकता है और बादल फटने से बहाव बेहद तेज हो सकता है.

गुफा के पास बादल फटने के बाद आस-पास के रिहायशी इलाकों में रहने वाले लोगों को एहतियाती तौर पर सुरक्षित स्थानों पर जाने के निर्देश दिए गए हैं. इस घटना को लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल से बातचीत की है.

केन्द्र सरकार की ओर से प्रभावित लोगों को हर संभव मदद का भरोसा दिलाया गया है. बता दें कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते पिछले साल की तरह इस साल भी अमरनाथ यात्रा को रद्द कर दिया गया था.

Amarnath : किश्तवाड़ में बादल फटने से हुई सात लोगों की मौत

इससे पहले बुधवार को ही जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ जिले के एक सुदूर गांव में बादल फटने से सात लोगों की मौत हो गई और 17 अन्य लोग घायल हो गए.

अधिकारियों ने बताया कि दाचन तहसील के होनजार गांव में सुबह करीब साढ़े चार बजे बादल फटने के कारण एक पुल के अलावा छोटी नदी के किनारे स्थित छह मकान और एक राशन की दुकान भी बुरी तरह क्षतिग्रस्त हो गए. पुलिस, सेना और राज्य आपदा मोचन बल (एसडीआरएफ) का संयुक्त राहत अभियान जारी है, जो लापता 14 लोगों की तलाश में जुटे हैं.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि केन्द्र सरकार जम्मू-कश्मीर के किश्तवाड़ जिले में बादल फटने की घटना से उत्पन्न स्थिति पर करीब नजर रख रही है और प्रभावित क्षेत्रों में हरसंभव मदद पहुंचाई जा रही है.