बेइज्जती का बदला लेने के लिए साथी प्रापर्टी डीलर को उतारा था मौत के घाट

Spread the love

दो हत्यारोपी गिरफ्तार,एक फरार

लखनऊ।मड़ियांव  इलाके से लापता हुए प्रापर्टी डीलर यासीन उर्फ मुन्ना की हत्या रुपयों के विवाद में हुई थी। हत्यारों ने गला रेतकर हत्या करने के बाद उसका शव शारदा नहर में फेंक दिया था। सोमवार को मड़ियांव पुलिस व क्राइम ब्रांच ने बाराबंकी के बदोसराय त्रिवेदीपुरवा पीठापुर से शव बरामद कर दो लोगों को गिरफ्तार किया है। हालांकि हत्याकांड में शामिल एक अन्य आरोपी फरार है।

दोस्तों संग गला रेतकर नहर में फेंका था शव

मड़ियांव श्रीनगर में रहने वाले प्रापर्टी डीलर यासीन तीन जनवरी को रहस्यमय हालात में लापता हो गए थे। काफी तलाश के बाद भी जब उनका कुछ पता न चला। इसके बाद यासीन की पत्नी  मेहरुनिशां ने मड़ियांव कोतवाली में गुमशुदगी दर्ज कराई थी।

मड़ियांव पुलिस व क्राइम ब्रांच को मोबाइल काल डिटेल्स के आधार पर दो नंबर मिले। नम्बर के आधार पर समरजीत सिंह व आदित्य सोनकर निवासी विकासनगर को हिरासत में लेकर कड़ाई से पूछताछ की गई तो हत्या करने की बात  कबूल कर ली। आरोपी समरजीत ने बताया कि यासीन उर्फ मुन्ना से घनिष्ठï संबंध था। दोनों लोग साथ में जमीन खरीद-फरोख्त का काम करते थे।

मुन्ना से तीन लाख रुपये उधार लिया था। डेढ़ लाख वापस कर दिया। बाकी के रुपयों के लिए यासीन उर्फ मुन्ना तगादा कर बेइज्जत करता था। तंग आकर मुन्ना की हत्या करने की योजना अपने साथ आदित्य व राज राजपूत के साथ मिलकर बनाया। योजना के तहत जमीन खरीदने के बहाने मुन्ना को बाराबंकी ले गया।

वहीं पहले से निर्धारित स्थान पर बाका से गला रेतकर हत्या कर शव व उसकी स्कूटी को नहर में फेंक दिया। इंस्पेक्टर मड़ियांव वीर सिंह ने बताया कि यासीन उर्फ मुन्ना का शव,हत्या में प्रयुक्त बाका व स्कूटी हत्यारोपियों की निशानदेही पर बरामद कर लिया गया है। वहीं फरार एक अन्य आरोपी की तलाश की जा रही है।