LUCKNOW: महिला की हत्यारे कर नहीं लगा सुराग, मोबाइल से खुलेगा हत्या का राज

Spread the love

चिनहट थाना क्षेत्र स्थित काशीराम कालोनी के पास महिला की हत्या कर चादर में लपेट कर फेकी गई लाश के मामले में हत्यारों को पकडऩा तो दूर हत्या की वजह भी पुलिस नहीं अभी तक नहीं तलाश पायी है।

-चिनहट में चादर में बांधकर फेकी गई महिला के शव का मामला  
-संदिग्ध महिला और एक युवक की तलाश  

लखनऊ। चिनहट थाना क्षेत्र स्थित काशीराम कालोनी के पास महिला की हत्या कर चादर में लपेट कर फेकी गई लाश के मामले में हत्यारों को पकडऩा तो दूर हत्या की वजह भी पुलिस नहीं अभी तक नहीं तलाश पायी है।
एसीपी विभूतिखंड के मुताबिक मिथिलेश श्रीवास्तव उर्फ ललित की महिला साथी का फोन बंद आ रहा है। जिससे संदिग्ध युवक का भी अभी तक पता  नहीं चल पाया है।

संदिग्ध महिला और युवक के मोबाइल नम्बर की सीडीआर के माध्यम से उन तक पहुंचने का प्रयास किया जा रहा है। आसपास लगे सीसीटीवी कैमरों के फुटेज खंगाले जा रहे हैं। पुलिस की टीमे अलग-अलग बिन्दुओं पर तफ्तीश कर रही है। अब तक की तफ्तीश में रंजिश व प्रापर्टी से संबंधित कोई मामला सामने नहीं आया है।

गौरतलब हो कि बीते शुक्रवार सुबह करीब 7:30 बजे चिनहट के लौलाई गांव स्थित काशीराम कालोनी के पास सड़क किनारे चादर में लपटी महानगर के रहने वाली मिथिलेश श्रीवास्तव उर्फ ललित (59) पत्नी सुशील श्रीवास्तव का शव मिला था। मृतक महिला लोहिया अस्पताल के बाहर पान मसाला की दुकान चलाती थी और वहीं रहती थी।

मिथिलेश पति सुशील श्रीवास्तव से आपसी विवाद की वजह से अलग रह रही थी। मिथिलेश का एक पुत्र है जो मुम्बई में रहता है। मृतका की मां मीना रावत के अनुसार मिथिलेश बीते करीब दो सप्ताह से उसके पास रहती थी और यहीं से वह पान की दुकान पर जाती थी।

मिथिलेश लोहिया अस्पताल में काम करने वाली नंदिनी नाम की महिला के साथ गुरुवार दोपहर करीब 12 बजे वह घर आयी थी। थोड़ी देर बाद किसी राकेश नाम के व्यक्ति का फोन नंदिनी के पास आया। इसके बाद मिथिलेश और नंदिनी काम पर जाने की बात कहकर चली गई। इसके बाद मिथिलेश का शव चिनहट थाना क्षेत्र में मिला।