lucknow : नौकरी का झांसा देकर ऑनलाइन ठगी करने वाला शातिर गिरफ्तार

नौकरी का झांसा देकर ऑनलाइन ठगी करने वाला शातिर गिरफ्तार
-एसटीएफ व साइबर क्राइम की संयुक्त टीम ने लखनऊ से दबोचा

लखनऊ। फेसबुक व लिंक्डइन सोशल मीडिया के माध्यम से इंश्योरेंस कम्पनियों के कर्मचारियों व बेरोजगारों का डेटा चोरी कर इंश्योरेंस अफसर बनकर ऑनलाइन ठगी करने वाले आरोपी को एसटीएफ व साइबर क्राइम की संयुक्त टीम ने लखनऊ से गिरफ्तार किया है।

गिरफ्तार आरोपी कोविड-19 प्रोटोकाल बताकर, वीडियो कान्फ्रेसिंग के माध्यम से इंटरव्यू कराकर नौकरी दिलाने का झांसा देकर ठगी करता था।

एसटीएफ के प्रभारी एसएसपी अनिल सिंह सिसौदिया के मुताबिक थाना साइबर क्राइम जनपद लखनऊ में कोटेक जनरल इंश्योरेंश कम्पनी का रीजनल मैनेजर बनकर नौकरी देने का झांसा देकर ठगी करने वाले व्यक्ति के खिलाफ केस दर्ज हुआ था।

मामले की तफ्तीश की जा रही थी। इसी दौरान मुखबिर की सूचना पर एचएएल चौराहा लखनऊ से एसटीएफ  व थाना साइबर क्राइम लखनऊ की संयुक्त टीम ने आरोपी को दबोच लिया।

पूछताछ में आरोपी ने अपना नाम अमित श्रीवास्तव निवासी नौबस्ता, जनपद कानपुर नगर बताया है। आरोपी के पास से मुकदमे से संबंधित एक मोबाइल फोन बरामद हुआ है।

पूछताछ में आरोपी अमित श्रीवास्तव ने बताया कि वर्ष 2005 में एमबीए करने के बाद आईडीबीआई बैंक कानपुर में सेल्स एग्जिक्यूटिव के पद पर ज्वाइन किया। वर्ष 2006 में नौकरी छोड़कर आईसीआईसीआई लाइफ इंश्योरेंस कम्पनी की उरई, जनपद जालौन बांच में यूनिट मैनेजर के पद पर ज्वाइन किया।

इसकेे बाद कई कंपनियों में बतौर ब्रांच मैनेजर रहा। वर्ष 2017 में आदित्य बिरला हेल्थ इंश्योरेंस कम्पनी कानपुर में ब्रांच मैनेजर के पद पर ज्वाइन किया। यहां कुछ गलत आदतों की वजह से 2018 में कम्पनी से रिजाइन करना पड़ा। इसके बाद किसी कम्पनी में चयन न होने के कारण

इंटरव्यू कराने का झांसा देकर ऑनलाइन ठगी

वर्ष2019 से लिंक्डइन व फेसबुक से विभिन्न इंश्योरेंस कम्पनियों के अधिकारियों, कर्मचारियों व बेरोजगार युवक युवतियों का डेटा चोरी कर कोटक जनरल इंश्योरेंस व एचडीएफसी एर्गो कम्पनी का रीजनल मैनेजर बनकर वीडियो कान्फे्रसिंग के माध्यम से इंटरव्यू कराने का झांसा देकर ऑनलाइन ठगी करने लगा।

एसटीएफ ने बताया कि अब तक आरोपी ने विभिन्न इंश्योरेंस कम्पनियों व बिस्टारा एयरलाइंस में नौकरी दिलाने का झांसा देकर लगभग 120 लोगों से ठगी की बात कबूल की है। गिरफ्तार आरोपी को थाना साइबर क्राइम जनपद लखनऊ में दाखिल कर आगे की कार्रवाई की जा रही है।

ऐसे बनाता था शिकार

आरोपी अमित श्रीवास्तव ने बताया कि विभिन्न इंश्योरेंस कम्पनियों के अधिकारियों, कर्मचारियों व बेरोजगारों को काल कर वर्तमान कम्पनी में मिल रहे वेतन से अधिक वेतन व पद से सीनियर पद पर नौकरी देने का लालच देता था। जब से करोना महामारी के कारण लॉकडाउन व सोशल डिस्टेंसिंग प्रारम्भ हुआ है ।

तब से कोविड-19 प्रोटोकाल बताकर पहले टेलीफोनिक इंटरव्यू उसके बाद वीडियो कान्फे्रंसिंग के माध्यम से एचआर कोटक जनरल इंश्योरेंश से इंटरव्यू कराने की बात कह कर दो अलग-अलग बैंक खातों की चेक व्हाट्सप के माध्यम से भेजकर वेंडर के बैंक खाते में पांच से दस हजार रुपये जमा कराया जाता था।

इसके बाद शिकार को मेल आने के बाद इंटरव्यू के भेजने का झांसा दिया जाता था। इतना ही नहीं यदि आवेदक को कोटेक जनरल इंश्योरेंस से ईमेल नहीं आता तो यह कहा जाता कि आपका वीडियो कानफ्रेंसिंग आज नहीं होगा आपका रुपया डीडी के माध्यम से वापस कर दिया जा रहा है।

फिर उसको दो तीन दिन बाद यह बताता जाता कि आपका वीडियो कानफे्रंशिंग का स्लाट मिल गया है। आप फिर से उसी बैंक खाते में रुपया जमा कर दो क्योंकि आपका पहले वाला रुपया आपको डीडी के माध्यम से वापस भेज दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.