lucknow : मरीज की मौत पर कर्मचारियों पर सर्जिकल ब्लेड से हमला, पांच हमलावर गिरफ्तार

Spread the love

लखनऊ । विभूतिखण्ड इलाके के लोहिया अस्पताल में मंगलवार सुबह कुछ तीमारदारों ने मरीज की मौत को लेकर एक वार्ड ब्वाय पर सर्जिकल ब्लेड से हमला कर दिया। वहीं बाद में उसकी चीख-पुकार सुनकर मौके पर पहुंचे गार्ड व एक अन्य वार्ड ब्वाय ने जब उसे बचाने का प्रयास किया तो हमलावरों ने उनपर भी ब्लेड से हमला कर घायल कर दिया।

इंस्पेक्टर विभूतिखंड के मुताबिक मंगलवार सुबह लोहिया संस्थान में संजय गांधी पुरम निवासी माता प्रसाद की इलाज के दौरान मौत हो गई। माता प्रसाद काफी समय से अस्पताल में भर्ती थे। बताया जा रहा है कि पिता के मौत की खबर सुनकर उनका बेटा आकाश कुमार वर्मा अपने साथी रिश्तेदार आदित्य वर्मा,अर्जुन वर्मा, ऋतिक गुप्ता व देव निषाद के साथ अस्पताल पहुंच गया। बाद में उन लोगों ने डॉक्टरों पर इलाज में लापरवाही का आरोप लगाते हुए परिसर में हंगामा के साथ ही गाली-गलौच शुरू कर दी।

अफरा-तफरी के बाद भगदड़ शुरू

वहीं इस दौरान सीनियर डॉक्टर परिसर में राउंड कर रहे थे, जिसके चलते वार्ड ब्वाय सचिन ने उन्हें शांत रहने को कहा। आरोप है कि इस बात से गुस्सा होकर आकाश व उसके साथियों ने  सचिन पर सर्जिकल ब्लेड से हमला कर दिया। शोर-शराबा सुनकर वार्ड ब्वाय जय प्रकाश और गार्ड सनातन कुमार उसके बचाव में दौड़े तो हमलावरों ने उन पर भी ब्लेड चला दिया। हमले में दोनों वार्ड ब्वाय और गार्ड घायल हो गए। वहीं घटना से पूरे संस्थान में अफ रा-तफ री के बाद भगदड़ शुरू हो गई। इस बीच कई अन्य गार्ड और कर्मचारी वहां पहुंचे और उन्होंने हमलावरों को दबोच लिया और पीटना शुरू कर दिया।

कर्मचारियों ने पुलिस को मामले की सूचना दी। मौके पर पहुंची विभूतिखंड पुलिस ने पांचों हमलावरों को पकड़ा और उन्हें हिरासत में लेकर थाने चली गई। पुलिस के मुताबिक घटना के समय अचानक हमलावरों के पास सर्जिकल ब्लेड कहां से आया सीसीटीवी की मदद से इसकी जांच की जा रही है।

घटना पर लोगों ने उठाए सवाल  

अस्पताल में तीन कर्मचारियों पर चाकू से हमले के बाद वार्ड में भर्ती अन्य मरीज और उनके तीमारदार  सहम गए है। उन्होंने अस्पताल की सुरक्षा व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा की परिसर में सुरक्षा गार्ड व पुलिस चौकी होने के बावजूद बेखौफ दबंगों ने हमला बोल दिया, इससे पता चलता है कि यह मरीजों व अन्य लोगों की किस तरह रक्षा की जाती है। इंस्पेक्टर विभूतिखंड ने बताया कि पकड़े गए हमलावरों में तीन युवक मूल रूप से गोण्डा निवासी व दो गोमतीनगर के रहने वाले है, उनसे पूछताछ की जा रही है। वहीं अभी अस्पताल की ओर से कोई तहरीर नहीं मिली है। तहरीर मिलते ही आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया जाएगा

Leave a Reply

Your email address will not be published.