लखनऊ: टीले वाली मस्जिद में नारेबाजी करने वाले मास्टर माइंड की तलाश

Spread the love

लखनऊ। लखनऊ के एतिहासिक टीले वाली मस्जिद पर 10 जून को जुमे की नमाज के बाद  नारेबाजी की साजिश रचने के आरोपी की तलाश की जा रही है। खुफिया एजेन्सी और पुलिस की तीन टीमें नारेबाजी में शामिल युवकों को सीसी फुटेज के आधार पर चिन्हित कर रही है। करीब आधा दर्जन युवक चिन्हित भी किये जा चुके हैं। इसके साथ ही सोशल मीडिया को भी खंगाला जा रहा है। पुलिस को जानकारी मिली है कि इस पूरे मामले के मास्टर माइन्ड ने ही कुछ युवकों से सम्पर्क किया था और माहौल बिगाडऩे की साजिश रची थी। हालांकि पुलिस की सतर्कता के चलते महौल बिगाडऩे की कोशिश नाकाम रही।

चिन्हित लोगों को नोटिस देकर पाबन्द करेगी पुलिस

पुलिस ने फोटो और सीसी फुटेज के आधार पर नमाज के बाद नारेबाजी करने वाले छह युवकों को चिन्हित कर लिया है। इनका पूरा ब्योरा पुलिस एकत्र कर रही है। जल्द ही इन पर कार्रवाई की जायेगी। वहीं खुफिया एजेन्सियों का कहना है कि कुछ लोगों ने साजिश रची थी कि टीले वाली मस्जिद पर नमाज के बाद हंगामा कराया जाये। ये लोग बड़ा बवाल कराने की फिराक में थे। पर, पुलिस और पीएसी व आरआरएफ  के आगे इनकी नहीं चली। पुलिस इस बात को मद्देनजर रखते हुए अपनी जांच आगे बढ़ा रही है कि हर बार अपेक्षा इस जुमे को चार गुना ज्यादा तादात में लोग नमाज के लिए टीले वाली मस्जिद पर पहुंचे थे।

आगामी जुमे की नमाज पर विशेष सतर्कता

इंस्पेक्टर चौक  प्रशांत कुमार मिश्र ने बताया कि पिछले जुमे को टीले वाली मस्जिद पर नमाज के बाद नारेबाजी कर माहौल खराब करने वाले लोगों को नोटिस देकर उन्हें पाबंद किया जायेगा। नोटिस तैयार की जा रही है। जल्द ही उन्हें तामील करवा दिया जायेगा। वहीं आगामी जुमे की नमाज को लेकर विशेष सतर्कता बरती जा रही है। धर्म गुरुओं और पीस कमेटी की बैठक की जा रही है। एसीपी चौक आईपी सिंह ने बताया कि संवेदनशील इलाकों में कड़ी सुरक्षा के प्रबंध किए जा रहे हैं।

साथ ही वहां  पर अर्धसैनिक बल की तैनाती की जा रही है। ड्रोन से नजर रखी जा रही है। जिन छतों पर ईंट  पत्थर अथवा बोतलें इत्यादि दिखी हैं। उनके मालिक को भी नोटिस देकर हटाने के लिए कहा जा रहा है। पुराने लखनऊ में करीब 550 मस्जिदें हैं। सभी मस्जिदों के मौलवियों और वहां पर जाने वाले लोगों को समझाया जा रहा है कि किसी प्रकार का हंगामा अथवा नारेबाजी करने की कोशिश न करें। ऐसा करने पर सख्त कार्रवाई की जायेगी।