लव जिहाद कानून: लखनऊ में बिना धर्म परिवर्तन हो रही शादी रुकवाई

लव जिहाद कानून: लखनऊ में बिना धर्म परिवर्तन हो रही शादी रुकवाई

लखनऊ। लव जिहाद पर बने कानून का असर पूरे प्रदेश में दिखाई देने दे रहा है। ऐसा ही एक मामला राजधानी लखनऊ के पारा थाना क्षेत्र में सामने आया है। यहां बिना धर्म परिवर्तन हो रही शादी को पुलिस ने पहुंचकर रुकवा दिया है। दोनों पक्षों को नए कानून की प्रतियां भी सौंपी गई हैं।

 28 नवंबर को नये कानून को मिली थी मंजूरी

सूबे की योगी सरकार ने धर्म परिवर्तन को रोकने के लिए पिछले सप्ताह उत्तर प्रदेश विधि विरुद्ध धर्म परिवर्तन प्रतिषेध अधिनियम 3/5 को कैबिनेट में रखने के बाद अध्यादेश जारी कर दिया था। 28 नवंबर को राज्यपाल आनंदीबेन पटेल की मंजूरी मिलते ही यह कानून बन गया। इस कानून के लागू होने के बाद छल-कपट व जबरन धर्मांतरण के मामलों में एक से दस वर्ष तक की सजा हो सकती है। खासकर किसी नाबालिग लड़की से छल या जबरन धर्मांतरण कराने के मामले में दोषी को तीन से दस वर्ष तक की सजा भुगतनी होगी।

पारा के डूडा कालोनी में हिन्दू युवती के साथ मुस्लिम समुदाय के युवक का विवाह होना था। अखिल भारत हिन्दू महासभा के जिलाध्यक्ष बृजेश कुमार शुक्ला ने पुलिस को मामले की शिकायत की। मौके पर पहुंची पारा पुलिस ने शादी को रूकवा दिया। एडीसीपी दक्षिणी सुरेश चंद्र रावत के मुताबिक बुधवार को अलग-अलग धर्म की युवती और युवक की शादी की शिकायत थाने तक पहुंची। यहां शादी दोनों परिवार की मर्जी से हो रही थी लेकिन नए कानून के कारण पुलिस ने शादी रुकवा दी। दोनों परिवारों को नए कानून की प्रति देते हुए पहले जिलाधिकारी से अनुमति लेने को कहा गया है।  

नये कानून के तहत तीन हुए केस दर्ज

कानून बनते ही पहला मामला अगले दिन 29 नवंबर को बरेली के देवरनिया में दर्ज किया गया। यहां एक छात्रा पर धर्म परिवर्तन के लिए उवैस अहमद नामक युवक दबाव बना रहा था। मामले में केस दर्ज करते हुए दो दिन बाद युवक को गिरफ्तार भी कर लिया गया। वहीं एक दिसंबर को मुजफ्फरनगर में दूसरा केस दर्ज किया गया। यहां एक पति ने दो लोगों पर उसकी पत्नी  को प्रेम जाल में फंसाकर धर्म परिवर्तन कर शादी करने का दबाव डालने का आरोप लगाया। वहीं मऊ के चिरैयाकोट में तीसरा केस दर्ज हुआ।

यहां शादी से एक दिन पहले युवती का दूसरे धर्म के युवक ने अपहरण कर लिया। पिता ने आरोप लगाया कि अपहरण के बाद उसकी बेटी का धर्म परिवर्तन कराकर खुद युवक ने शादी कर ली है। युवती की 30 नवंबर को शादी थी। एक दिन पहले 29 नवंबर को युवती का अपहरण किया गया। पिता की तहरीर पर पुलिस ने शाबाब नामक युवक के अलावा परिवार के 14 लोगों के खिलाफ  नामजद मुकदमा दर्ज किया गया है।  

Leave a Reply

Your email address will not be published.