lucknow: कूड़े की ढेर में मिला शटरिंग कारीगर का शव, हत्या का आरोप

पुलिस आरोपी को हिरासत में लेकर तफ्तीश में जुटी
शादी समारोह में जाने के बाद से युवक था लापता

लखनऊ। राजधानी के मोहनलालगंज थाना क्षेत्र में रविवार सुबह कस्बा बस अड्डïा के पीछे प्लाटिंग साइट पर जेसीबी से खोदाई के दौरान कूड़े की ढेर में एक 19 वर्षीय युवक का शव मिलने से हड़कंप मच गया। आनन-फानन में सूचना पर पहुंची पुलिस ने शव की शिनाख्त कर पोस्टमॉर्टम के लिए भेज दिया।

पुलिस तफ्तीश में जुटी

मृतक की शिनाख्त लापता शटरिंग कारीगर जीवन प्रकाश कश्यप के रूप में हुई है। वहीं, मृतक के भाई ने हत्या की आशंका जतायी है। पुलिस आरोपी को हिरासत में लेकर पूरे मामले की तफ्तीश में जुटी है।

मोहनलालगंज कस्बे स्थित बस स्टैंड के पास एक प्लाटिंग साइट पर रविवार सुबह जेसीबी से खोदाई की जा रही थी। इस बीच एक युवक का शव कूड़े की ढेर में मिलने से अफरा-तफरी मच गई। मौके पर पहुंची पुलिस ने शव की शिनाख्त कराने में जुट गई।

शादी समारोह में जाने के लिए निकला था मृतक

सूचना पर पहुंचे अतरौली गांव निवासी मानवेंद्र ने शव की शिनाख्त छोटे भाई शटरिंग कारीगर जीवन प्रकाश कश्यप (19) के रूप में की। मानवेंद्र ने बताया कि शुक्रवार देर शाम भाई पड़ोस में रहने वाले रमाकांत त्रिपाठी के साथ स्कूटी से दीवानगंज के शादी समारोह में जाने के लिए निकला था। उसके बाद वापस नहीं लौटा।

देर रात तक उसकी खोजबीन की, लेकिन कुछ पता न चला। वहीं बताया जा रहा है कि मां और भाई रात को मोहनलालगंज कोतवाली शिकायत लेकर पहुंचे थे लेकिन उन्हें थाने से सुबह फोटो के साथ आने की बात कह कर टरका दिया गया।

इंस्पेक्टर गऊ दिन शुक्ला के मुताबिक मृतक  की जेब से करीब दो सौ रुपये व दो मोबाइल बरामद हुए हैं। शरीर पर कोई जाहिरा चोट दिखाई नहीं दिया है। आरोपी रमाकांत ने पूछताछ में बताया कि शादी से लौटते समय रात करीब 10 बजे इण्डियन ढाबा के पास दोनों ने शराब पी थी। इसके बाद जीवन ने थोड़ी देर में आने की बात कह कर उसे छोड़कर कही चला गया था।

काफी देर बाद न लौटने पर रमाकांत ने अपने भाई के बेटे को फोन कर उसे सूचना दी थी। इसके बाद रमाकांत घर पहुंचा। मोहनलालगंज एसीपी मलिक प्रवीण ने बताया कि परिजनों ने हत्या का आरोप लगाया है। तहरीर के आधार पर मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपी रमाकांत को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है। पोस्टमार्टम रिपोर्ट और तथ्यों के आधार पर आगे की कार्रवाई की जाएगी।

जान से मारने की मिली थी धमकी


मृतक के भाई मानवेंद्र ने बताया कि संजय नामक एक युवक ने उनके भाई को कुछ दिन पहले हुए मामूली विवाद में जान से मारने की धमकी दी थी। 11 दिसंबर की शाम को संजय के सहयोगी 65  वर्षीय रमाकांत त्रिपाठी के साथ शादी समारोह में शामिल होने के लिए गया था।

रमाकांत तो शादी से वापस आ गया लेकिन जीवन प्रकाश नहीं लौटा। वहीं दूसरी ओर यह भी बताया जा रहा है कि कुछ दिन पहले रमाकांत त्रिपाठी से भी ढावा पर कहासुनी हुई थी।

डंपर ने देर रात डाला था कूड़े का ढेर

बताया जा रहा है कि इलाके में प्लाटिंग चल रही थी। उसी प्लाटिंग पर कूड़े का ढेर डालने के लिए अक्सर गाड़ी आती है। जिसको उसमें बराबर कर दिया जाता है। वहीं देर रात डंपर आया और कूड़ा डालकर चला गया। कूड़े को बराबर करने के किये जेसीबी चलाई जा रही थी।

शराब के ठेके पर मिली स्कूटी

उसी दौरान उस कूड़े के ढेर में शव मिला तो पुलिस को सूचना दी गई। पुलिस अब इस बात की भी जांच कर रही है कि यह शव डंपर से आया है या फिर इसकी हत्या करके उसे यहां पर फेंका गया है। वहीं जिस स्कूटी से मृतक शादी में गया था। वह स्कूटी एक शराब ठेके पर मिली है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.