होमगार्ड के साथ दुर्घटना हुई तो परिजनों को मिलेगा पांच लाख की सहायता राशि: CM योगी आदित्‍यनाथ

Spread the love

If there is an accident with the Home Guard, the family will get five lakh assistance: CM Yogi Adityanath

– होमगाड्र्स मुख्यालय में मनाया गया स्थापना दिवस

लखनऊ। होमगार्ड विभाग हमेशा से ही निष्काम भाव से समाज की सेवा व देश की सुरक्षा में योगदान दिया है। कुंभ मेला हो, आपदा हो या अन्य क्षेत्र में कार्य करने के दौरान होमगार्ड स्वयंसेवको ने हमेशा अदम्य साहस का परिचय दिया है। इस सेवा और साहस का क्रम इसी तरह जारी रखें। अब ड्यूटी के दौरान दिवंगत हर होमगार्ड के आश्रितों को पांच लाख रुपये सरकार देगी। यह बातें होमगार्ड मुख्यालय स्थित परेड ग्राउंड में आयोजित 58 वें उत्तर प्रदेश होमगाड्र्स स्थापना दिवस के अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि मुख्यमंत्री ने कहीं।  

इससे पहले आलमबाग स्थित होमगार्ड मुख्यालय स्थित परेड ग्राउंड पर मुख्यमंत्री ने रैतिक परेड का मान प्रणाम स्वीकर किया। इस मौके पर सीएम ने नौ दिवंगत होमगार्ड के आश्रितों को पांच-पांच लाख रुपये का चेक दिया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने पांच जिलों के भवन और मुरादाबाद के मंडलीय कमाण्डेन्ट प्रशिक्षण केंद्र का लोकार्पण किया।

मुख्यमंत्री ने विभाग का किया विमोचन

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अपने संबोधन में कहा कि होमगार्ड स्वयंसेवकों की भूमिका हर स्तर पर सराहनीय रही है। उनकी कर्तव्यशीलता को देखते हुए होमगार्ड जवानों को आपदा प्रबंधन व मास्टर्स ट्रेनिंग से भी प्रशिक्षित किया है। इस दौरान मुख्यमंत्री ने भारत रत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव अंबेडकर के 65 वें परिनिर्वाण दिवस पर उन्हें याद किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने परेड वाहन से ग्राउंड का निरीक्षण किया। बैंड दल ने भी अपना हुनर मुख्यमंत्री के सामने दिखाया। मुख्यमंत्री ने विभाग की स्मारिका का विमोचन किया।

श्री योगी ने कहा कि होमगार्ड जवान पुलिस के समान काम कर रहे हैं। कुंभ व अन्य आयोजनों में होमगार्ड ने सराहनीय काम किये हैं। 1962 में प्रदेश में होमगार्ड की स्थापना हुई थी। अभी तक ड्यूटी के दौरान दिवंगत सभी होमगार्डो के आश्रितों को धनराशि नहीं मिल पाती थी।अब ड्यूटी के दौरान दिवंगत हर होमगार्ड के आश्रितों को पांच लाख रुपये सरकार देगी।

कार्यक्रम में अपर मुख्य सचिव होमगाड्र्स अनिल कुमार ने कहा कि ऑटोमैटिक सॉफ्टवेयर के जरिये ड्यूटी लगाए जाने और उन्हें भुगतान करने की व्यवस्था जल्द शुरू की जाएगी। इस मौके पर पूर्व मंत्री स्व. चेतन चौहान की पत्नी संगीता चौहान और मेयर संयुक्ता भाटिया के अलावा मुख्य सचिव आरके तिवारी, अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी व डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी, डीजी होमगार्ड विजय कुमार, डीआईजी रणजीत सिंह व विवेक सिंह मौजूद रहे।

बिकरू कांड में घायल होमगार्ड समेत दो को डीजी कमंडेशन डिस्क

कानपुर के बिकरू कांड में घायल सीओ देवेंद्र मिश्रा की मदद के दौरान चोटिल बहादुर होमगार्ड जयराम कटियार और गाजियाबाद विकास प्राधिकरण के सचल सीलिंग दस्ते की टीम को लेकर जा रहे बस चालक को दिल का दौरा पडऩे पर बस को नियंत्रित कर दुर्घटना से बचाने वाली मंजू को मुख्यमंत्री ने डीजी कमंडेशन डिस्क देकर संमानित किया। मंजू ने बस में सवार 10 लोगों की जान बचाई थी।

होमगार्डो की भत्ता बढ़ाये जाने समेत अन्य मांग

मौजूदा समय में होमगार्ड के एक लाख 348 पद के सापेक्ष करीब 90 हजार जवान ड्यूटी कर रहे हैं। कुल 1151 कंपनी में 785 ग्रामीण और 366 शहर की कम्पनी हैं।  इसमें करीब पांच हजार महिला होमगार्ड जवान हैं। 25 महिला कंपनी और 60 प्लाटून हैं। मौजूदा समय में प्रतिदिन 600 रुपए एवं इसमें शासन द्वारा समय-समय पर निर्धारित महंगाई भत्ते को जोड़ते हुए होमगार्ड को मिलता है। हालांकि 34 माह का बकाया दैनिक भत्ते का भुगतान, महिलाओं को 180 दिन का प्रसूता अवकाश,वर्दी भत्ता नगद, प्रशिक्षण व अंतर्जनपदीय भत्ता बढ़ाया जाने की मांग हैं

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.