इश्योरेंस क्लेम का झांसा देकर लाखों रुपये हड़पे ,Got money on the pretext of insurance claim

Spread the love

Crime इश्योरेंस क्लेम का झांसा देकर रुपये हड़पे ,Got money on the pretext of insurance claim

लखनऊ। बंद हो चुकी इश्योरेंस पॉलिसी पर क्लेम दिलाने का झांसा देते हुए रेलकर्मी कर्मी से 24 हजार रुपये ठगों ने झटक लिए। पीडि़त ने कृष्णानगर कोतवाली में मुकदमा दर्ज कराया है।

कृष्णानगर ओशोनगर निवासी शिव कुमार डीआरएम ऑफिस में कार्यरत हैं। उन्होंने निजी कम्पनी से वर्ष 2011 में पॉलिसी थी। तीन साल तक उन्होंने किस्तें जमा की। इसके बाद प्रीमियम जमा नहीं किया था।

Crime ढाई लाख रुपये का क्लेम दिलाने का दावा

शिव कुमार के अनुसार 27 अगस्त को उन्हें इश्योरेंस कर्मी सत्यपाल सिंह राठौर के नाम से फोन आया था। जिसने पॉलिसी पर ढाई लाख रुपये का क्लेम दिलाने का दावा किया था।

बातों में उलझाने के बाद ठग ने शिव कुमार से करीब 24 हजार रुपये एक एकाउंट में जमा कराए थे। इसके बाद इश्योरेंस कर्मी का फोन उठना बंद हो गया। ठगों के जाल में फंसने का अंदाजा होने पर तहरीर दी।

इंस्पेक्टर आलोक राय के मुताबिक मुकदमा दर्ज कर तफ्तीश की जा रही है।

Lucknow. On the pretext of getting a claim on the closed insurance policy, the thugs took away 24 thousand rupees from the railway personnel. The victim has filed a case at Krishnanagar Kotwali.

Shiv Kumar, a resident of Krishnanagar Oshonagar, is working in the DRM office. He had a policy from a private company in the year 2011. For three years he deposited the installments. Thereafter the premium was not paid.

Crime claims to get a claim of 2.5 lakh rupees

According to Shiv Kumar, on August 27, he got a call in the name of insurance worker Satyapal Singh Rathore. Who had claimed to get a claim of Rs 2.5 lakh on the policy.

After getting entangled in things, the thug had deposited about 24 thousand rupees from Shiv Kumar in an account. After this the call of the insurance worker stopped ringing. On being aware of being trapped in the trap of thugs, he filed a complaint.

According to Inspector Alok Rai, a case is being registered and investigation is being done.