crime in lucknow : दंपत्ति ने करीबी संग बनाई थी लूट की योजना, हुए गिरफ्तार ,सरगना व उसके दो साथी फरार

Spread the love

crime in lucknow : लखनऊ के उत्तरी जोन इलाके के गुडंबा क्षेत्र में बीते 30 अप्रैल को असफल लूट के प्रयास के दौरान,

व्यापारी को गोली मारे जाने के मामले में पुलिस के हाँथ सफलता लगी है।

पुलिस ने घटना में शामिल साजिशकर्ता दंपत्ति को गिरफ्तार किया है।

वहीं घटना को अंजाम देने वाला सरगना व उसके दो साथी अब भी फरार हैं।

पुलिस का दावा है कि जल्द ही फरार आरोपी भी गिरफ्त में होंगे।

इंस्पेक्टर गुडंबा फरीद अहमद ने बताया कि 30 अप्रैल को सायं लगभग ,

पौने सात बजे थाना क्षेत्र के छुइयापुरवा चौराहा के पास,

स्थित अंजनी ज्वेलर्स में चार बदमाश लूट की नीयत से आये थे,

लेकिन दुकानदार अनुराग अवस्थी लूट के दौरान उनसे हांथापाई करने लगा वहीं शोर सुनकर पड़ोस का किराना व्यापारी,

पीयूष अग्रवाल भी आकर बदमाशो से भिड़ गया जिस पर बदमाश उसे गोली मारकर फरार हो गए थे ,

अपराधियो के बारे में दारोगा सुधाकर पांडेय मय क्राइम टीम डीसीपी उत्तरी ने टेढ़ी पुलिया से खुर्रम नगर तक जो फुटेज देखे ,

उसमें एक स्कूटी संख्या यूपी 32 एफई 7212 का नंबर ट्रेस हो गया था।

सोमवार को मुखबिर खास ने सूचना दी कि जिस स्कूटी संख्या की बात कही गई ,

वह स्कूटी लेकर एक शख्स जगरानी मोड़ पर खड़ा है।

मुखबिर सूचना पर इंस्पेक्टर फरीद अहमद व क्राइम टीम इंस्पेक्टर धर्मेंद्र कुमार के नेतृत्व में पुलिस टीम बनाकर,

मौके से लौलाई चिनहट निवासी राकेश कश्यप उर्फ गोपाल को गिरफ्तार किया गया ,

जिसके पास से एक अवैध तमंचा 32 बोर व एक कारतूस मिली।

तभी मुखबिर ने सूचना दी कि जगरानी मोड़ पर ही राकेश की पत्नी संगीता उसे छुड़ाने के लिए खड़ी है

और वह भी इस घटना की योजना में शामिल थी। इसके बाद संगीता को भी वहीं से गिरफ्तार कर लिया गया।

crime in lucknow :  ऐसे रची थी लूट की साजिश

गिरफ्त में आये राकेश उर्फ गोपाल ने बताया कि उसका पप्पू लोध के घर आना जाना था।

पप्पू लोध ने ही उसे अंजनी ज्वेलर्स के बारे में बताया।

इसके बाद पप्पू ने राकेश व संगीता संग मिलकर घटना को अंजाम देने का प्लान बना डाला।

29 अप्रैल को राकेश व संगीता पप्पू व उसके दोस्त अजय पटेल के साथ दुकान देखने गए।

30 अप्रैल की शाम राकेश व पप्पू स्कूटी से व अजय पटेल और मोनू बाइक से अंजनी ज्वेलर्स पर जा धमके।

गोपाल स्कूटी लेकर दूर खड़ा था और बाकी तीनो दुकान के अंदर जाकर लूट करने लगे ,

लेकिन दुकानदार अनुराग अवस्थी ने शोर शुरू कर दिया।

अनुराग के शोर मचाने पर पीयूष अग्रवाल आ गया और भागने के लिए पप्पू ने फायरिंग कर दी जो पीयूष को जा लगी।

हालांकि इस घटना में बदमाश अपने मंसूबों को अंजाम नही दे पाए।

crime in lucknow : गोली मारकर पहुँचे चिनहट

राकेश उर्फ गोपाल ने बताया कि गोली की आवाज के बाद हड़कम्प मच गया तो वह स्कूटी लेकर टेढ़ी पुलिया की तरफ भागा।

वहीं पीछे से एक ही बाइक पर अजय, पप्पू व मोनू भी भागे।

जिसके बाद सभी लोग चिनहट चले गए। चिनहट से पप्पू, अजय व मोनू अपने अपने ठिकाने चले गए।

राकेश ने बताया कि पुलिस को कोई सुराग न लगे इसलिए उसने घटना से पहले ही ,

अपनी स्कूटी संख्या के 7 नंबर डिजिट को स्याही से ढक दिया था।

जल्द गिरफ्तार होगा सरगना व उसके साथी

इंस्पेक्टर गुडंबा फरीद अहमद ने बताया कि फिलहाल घटना का सरगना पप्पू लोध व उसके साथी अजय व मोनू फरार हैं।

ये तीनो ही जनपद उन्नाव के रहने वाले हैं।

फरार आरोपियों के संभावित ठिकानों पर दबिश दी जा रही है जल्द ही वो भी सलाखों के पीछे होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published.