Crime in Lucknow : लूट व चोरी की ट्रकों का हेराफेरी करने वाले गिरोह का इनामी सदस्य गिरफ्तार

Spread the love

Crime in Lucknow : एसटीएफ ने आरोपी को काकोरी से दबोचा

लखनऊ। लूट व चोरी की ट्रकों के इंजन व चेसिस नंबर को बदल कूटरचित दस्तावेज तैयार कर हेराफेरी कर उन्हें बेचने वाले गिरोह के इनामी सदस्य को एसटीएफ ने लखनऊ से गिरफ्तार किया है।

एसटीएफ के सीओ दीपक कुमार सिंह के मुताबिक मुखबिर की सूचना पर काकोरी थाना क्षेत्र स्थित मोटीनीम चौराहा के पास से उत्तराखण्ड जिला उधमसिंहनगर किच्छा बंडिया सेठीधार कोट निवासी

मुमताज खां उर्फ बाबू को गिरफ्तार कर लिया गया है। जिसके पास से दो मोबाइल व 215 रुपये की नकदी मिली है। गिरफ्तार आरोपी पर 20 हजार रुपये का इनाम घोषित था।

एसटीएफ ने बताया कि 29 सितंबर 2021 को जनपद आगरा में गैंग के दो लोगों को गिरफ्तार कर सात, 06 अक्टूबर को काकोरी जनपद लखनऊ में एक आरोपी को गिरफ्तार कर तीन फर्जी ट्रक बरामद किये गए थे। आगे की कार्रवाई काकोरी पुलिस द्वारा की जा रही है।

Crime in Lucknow : ऎसे  करते थे हेराफेरी

गिरफ्तार आरोपी मुमताज ने बताया कि ट्रकों के कागजातों, इंजन व चेसिस नंबर में हेराफेरी व चोरी की ट्रकों को बेचने का उसका एक अंतर्राज्यीय स्तर पर गिरोह है। जिसमें पंकज निवासी एटा, गौतम सिंह उर्फ डोलू निवासी आगरा, अखिलेश सिंह कानपुर नगर व फरमान निवासी सितारगंज उधमसिंहनगर उत्तराखण्ड समेत अन्य लोग शामिल हैं।

चोरी,लूट की ट्रकों के साथ ही लोन की किश्तें डिफाल्ट हो चुकी ट्रकों को सस्ते दामों में खरीद लेते हैं। इसके बाद ट्रकों चोरी की एफआईआर थाने से या फिर न्यायालय से सीआरपीसी की धारा 156(3) द्वारा दर्ज कराकर उनके फर्जी रजिस्ट्रेशन प्रपत्र आरटीओ के दलालों के माध्यम से तैयार कराते हैं।

इसके बाद मुमताज उर्फ बाबू के जानने वाले मिस्त्री नसीम निवासी बदायूं ट्रकों की इंजन व चेसिस नंबरों को मिटाकर फर्जी रजिस्ट्रेशन प्रपत्रों में लिखे हुए इंजन व चेसिस नंबर को उनके स्थान पर लगा देता हैं। इसके बाद इन ट्रकों को दोबारा अच्छे दामों में बेच दिया जाता है।