COVID-19 : Lucknow चंद सिपाही और बैरिकैडिंग के सहारे राजधानी में नाइट कर्फ्यू

Spread the love

COVID-19 :  -चालान का कोटा पूरा कर निकल लेते है जिम्मेदार पुलिस अफसर

-रातभर जारी रहता है लोगों का आवागमन

लखनऊ। राजधानी के लखनऊ कमिश्नरेट में करीब तीन सप्ताह से जारी नाइट कर्फ्यू की सख्ती का असर धीरे-धीरे कम होता नजर आ रहा है।

यहां तक की आठ बजे के बाद भी दुकाने खुली रहती है। साथ ही गली-मोहल्लों से लेकर चौराहों तक लोगों का आवागमन रातभर जारी रहता है।

वहीं पुलिस के मातहत चालान का कोटा पूरा कर बैरिकैडिंग व सिपाहियों के हवाले जिम्मेदारी छोड़कर चल निकलते हैं।

राजधानी लखनऊ कमिश्नरेट में कोरोना के बढ़ते रफ्तार के साथ ही नाइट कर्फ्यू के साथ ही दो दिवसीय साप्ताहिक लॉकडाउन लगाया गया है।

जिसके चलते कोरोना महामारी की चेन तोडऩे में कामयाबी भी मिली है।

बावजूद इसके लोगों का कर्फ्यू के दौरान भी आना-जाना जारी है। कई लोग आवश्यक सेवाओं का बहाना बताकर निकल जाते हैं

तो कई पुलिस के हत्थे भी चढ़ते है जहां पुलिस चालान कर उन्हें चलता कर देती है।

वहीं रात होते-होते शहर के मुख्य चौराहों पर पुलिस के चंद सिपाही और बैरिकैडिंग के साथ लोगों का आवागमन जारी रहता है।

गौरतलब हो कि 8 अप्रैल गुरुवार रात से ही लखनऊ कमिश्नरेट में नाइट कर्फ्यू जारी है। पहले दिन पुलिस कमिश्नर डीके ठाकुर से लेकर

जेसीपी काननू-व्यवस्था पीयूष मोर्डिया व पुलिस के अन्य अफसर सड़क पर उतरे तो कफ्र्यू का व्यापक असर दिखाई दिया,लेकिन समय बीतने के साथ ही

धीरे-धीरे इसका असर भी कम होता नजर आ रहा है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.