कार की बोनट पे टांग कर पहले घुमाया फिर कुचला “छात्र” की मौत

कार सवारों ने छात्र को बोनट पर टांग एक किलोमीटर दूर ले जाकर चढ़ायी कार

लखनऊ। मोहनलालगंज कोतवाली क्षेत्र के सिसेंडी कस्बे में शनिवार की देर रात स्कूटी व कार में मामूली टक्कर के बाद हुए विवाद में मारपीट के बाद कार सवारों ने भगाने का प्रयास किया तो छात्र कार रोकने के लिये बोनट पर लटक गया। वहीं कार सवार दबंगों ने छात्र को बोनट पर टांगकर एक किलोमीटर ले जाकर कार से कुचलकर भाग निकले।

घायल छात्र को इलाज के लिये ट्रामा सेंटर भेजा गया जहां इलाज के दौरान छात्र ने दम तोड़ दिया। वहीं पुलिस आस-पास लगी सीसीटीवी फुटेज के आधार पर कार की तलाश में जुटी है।

मोहनलालगंज के सिसेंडी कस्बे में शनिवार की देर रात अपने घर जा रहे बीए के छात्र लोकनाथ त्रिवेदी उर्फ अंशू(23) की स्कूटी में कार सवार ने टक्कर मार दी। जिसके बाद छात्र व कार सवारों के बीच वाद-विवाद के बाद जमकर मारपीट हो गयी।

राहगीरों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने परिजनों को सूचना देकर छात्र लोकनाथ को एम्बुलेंस से इलाज के लिये सीएचसी भेजा,जहां डॉक्टर ने छात्र की हालत गम्भीर देख ट्रामा सेन्टर रेफर  कर दिया। यहां इलाज के दौरान देर रात छात्र ने दम तोड़ दिया।

इंस्पेक्टर दीनानाथ मिश्रा ने बताया कि घटना स्थल समेत अन्य आस-पास लगे सीसीटीवी कैमरों की फुटेज निकलवाकर कार सवारों की तलाश की जा रही है।

बेटे की मौत से मचा कोहराम  

छात्र लोकनाथ अपने मां-बाप का इकलौता बेटा था। पान की गुमटी चलाकर परिवार का जीवन यापन करने वाले पिता हरिकृष्ण सहित परिजनों को इकलौते बेटे लोकनाथ के मौत की खबर मिली तो घर में कोहराम मच गया। पिता हरिकृष्ण त्रिवेदी,मां किरन सहित बहन अनामिका का रो-रो कर बुरा हाल था।

रविवार की दोपहर पोस्टमार्टम के बाद छात्र लोकनाथ का शव गांव पहुंचने पर कोहराम मच गया। मौके पर मौजूद ग्रामीणों की आंखों से भी आंसू छलक पड़े।

चौकी के बगल से निकले कार सवार नहीं लगी भनक

यहां सिसेंडी चौकी पर तैनात पुलिसकर्मियों की लापरवाही भी उजागर हुई है। शनिवार की रात छात्र चौकी से चंद कदमों पर स्थित मैरिज पैलेस के पास पहले तो काफी देर मारपीट होती रही फिर छात्र को कार के बोनट पर टांगकर चौकी के बगल से ही कार सवार लेकर गये।

और सिसेंडी-मौरावां मार्ग पर ले जाकर ब्रेक मारकर कार से गिराने के बाद कार चढ़ाकर जान ले ली। शायद समय रहते पुलिस मुस्तैदी दिखाती तो छात्र की जान बच जाती। पुलिस की लापरवाही को लेकर ग्रामीणों में आक्रोश व्याप्त है। 

Leave a Reply

Your email address will not be published.